Breaking News

इंदौर जिले की सभी ग्राम पंचायतों में आज होगी विशेष ग्राम सभायें,शिवराज करेंगे ग्राम सभाओं संबोधित

Posted on: 07 May 2018 05:03 by Ravindra Singh Rana
इंदौर जिले की सभी ग्राम पंचायतों में आज होगी विशेष ग्राम सभायें,शिवराज  करेंगे ग्राम सभाओं संबोधित

इंदौर: असंगठित श्रमिकों के पंजीयन के लिए इंदौर जिले में गत अप्रैल माह में विशेष अभियान चलाया गया। इस अभियान के अंतर्गत चिन्हित श्रमिकों को योजनाओं के लाभ के संबंध में जानकारी देने के लिये 7 मई को जिले की सभी 312 ग्राम पंचायतों में विशेष ग्राम सभाएं आयोजित की जायेगी।

जिला पंचायत से प्राप्त जानकारी के अनुसार इन ग्राम सभाओं के सुव्यवस्थित और प्रभावी आयोजन के लिए ग्राम पंचायतवार एक-एक कर्मचारी की ड्यूटी लगाई गई है। इन कर्मचारियों को निर्देश दिये गये है कि वे ग्राम सभाओं में स्थानीय जनप्रतिनिधियों को भी आमंत्रित करें और अधिक से अधिक उपस्थिति ग्राम सभाओं में सुनिश्चित करें। साथ ही इस संबंध में जिले की सभी जनपद पंचायतों के मुख्य कार्यपालन अधिकारियों को निर्देश दिये गये है कि वे ग्राम सभाओं का आयोजन राज्य शासन द्वारा दिये गये निर्देशों के अनुसार ही करें।

shivraj-singh-chauhan_150

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान 7 मई को शाम 5.30 बजे विशेष ग्राम सभाओं को संबोधित करेंगे और उपस्थित श्रमिक भाई-बहनों से संवाद करेंगे। उल्लेखनीय है कि श्री चौहान के मार्गदर्शन में प्रदेश में असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों के कल्याण की अनूठी योजना लागू की गई है।

प्रदेश में असंगठित क्षेत्र के श्रमिक भाई-बहनों को श्रमिक सुरक्षा एवं श्रमिक कल्याण योजनाओं की जानकारी देने के लिये 7 मई को शाम 5 बजे विशेष ग्राम सभाओं का आयोजन किया जायेगा। ग्राम सभाओं की इन विशेष बैठकों में श्रमिक कल्याण योजनाओं और मुख्यमंत्री असंगठित श्रमिक कल्याण योजना के संबंध में जानकारी दी जायेगी।

shivraj singh chauhan

चौहान ने इस अवसर पर प्रसारित संदेश में कहा है कि असंगठित क्षेत्र के श्रमिक अपनी सुख-सुविधाओं और अधिकारों के लिये आवाज ही नहीं उठा पाते थे। अब राज्य सरकार ने ऐतिहासिक फैसला लेते हुये असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों के कल्याण और उनकी सेवा की अनूठी योजना बनाई है। इस योजना का लाभ देने के लिये श्रमिकों का पंजीयन किया गया है। श्री चौहान ने पंजीकृत श्रमिकों से आग्रह किया है कि वे ग्राम सभा में पढ़ी जाने वाली सूची में अपना नाम अवश्य देख लें। यदि उनका नाम छूट गया है, तो उसे तत्काल जुड़वायें ताकि योजना का पूरा लाभ उन्हें मिल सके।

श्री चौहान ने कहा कि इस योजना में श्रमिकों को जमीन के पट्टे देने, पक्का मकान देने, उनके बच्चों की पढ़ाई-लिखाई और इलाज का इंतजाम करने, श्रमिक बहनों को प्रसूति में सहायता देने और श्रम करने के दौरान अपंगता होने पर सहायता राशि देने, दुर्घटना होने पर मुआवजा देने और यहाँ तक कि अंतिम संस्कार के लिये भी सहायता देने की व्यवस्था की गई है। उन्होंने बताया कि इस योजना में ढ़ाई एकड़ तक की जमीन वाले किसान भी शामिल किये गये हैं, क्योंकि वे खेतिहर श्रमिक की श्रेणी में आते हैं। विशेष ग्राम सभाओं में संबंधित गाँव के पंच-सरपंच अथवा ग्राम सभा के गणमान्य सदस्य मुख्यमंत्री के संदेश का भी वाचन करेंगे।

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com