Uttarakhand Bus Accident: MP के 26 यात्रियों की मौत, 2 दिन से सोया नहीं था ड्राइवर, घायलों से बात करने के लिए परेशान हो रहे परिजन

उत्तराखंड में मध्य प्रदेश के 28 यात्रियों से भरी बस खाई में पलटी खा गई थी. इस हादसे में अब तक 26 लोगों की जान चली गई है. वहीं बाकी घायलों का इलाज किया जा रहा है.

Uttarakhand Bus Accident: उत्तराखंड के उत्तरकाशी में रविवार शाम को मध्य प्रदेश के यात्रियों से भरी बस खाई में गिर गई थी. इस बस में मध्य प्रदेश के 28 तीर्थयात्री और ड्राइवर क्लीनर सहित कुल 30 लोग सवार थे. हादसे में 26 लोगों की मौत हो गई है, यह चार धाम यात्रा के लिए जा रहे थे. हादसे में हुई मौत में देहरादून का कंडक्टर भी शामिल है. जानकारी के मुताबिक यह भी सामने आया है कि जो ड्राइवर बस को चला रहा था वह दो रातों से सोया नहीं था. सोमवार सुबह CM पुष्कर सिंह धामी और मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान घटनास्थल पर पहुंचे. जहां घायल ड्राइवर ने मुख्यमंत्री चौहान को यह बताया कि हादसा कैसे हुआ.

घटना में जान गंवाने वाले मध्य प्रदेश के 25 तीर्थयात्रियों का शव उत्तरकाशी से देहरादून एयरपोर्ट भेज दिया गया है. जहां से दोपहर तक एयर फोर्स के विमानों से खजुराहो एयरपोर्ट के लिए रवाना किया जाएगा और उसके बाद खजुराहो से पन्ना जिले के गांव में एंबुलेंस के जरिए पहुंचाया जाएगा. मध्य प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष वीडी शर्मा और खजुराहो सांसद बृजेंद्र प्रताप सिंह जी देहरादून पहुंचे. यह दोनों ही तीर्थ यात्रियों के पार्थिव देह लेकर आएंगे.

Must Read- ग्वालियर में कांग्रेस नेता ने पत्नी को मारी गोली, घटना को अंजाम देकर मौके से हुआ फरार

घटना में घायल हुए पन्ना के उदय सिंह और अक्खी राजा का इलाज देहरादून में करवाया जा रहा है. उनके बेटे कृष्णा का कहना है कि मम्मी पापा से बात नहीं करवाई जा रही है. हमने कहा कि हम देहरादून जाएं तो कलेक्टर का कहना है कि यहीं रहो उनका इलाज चल रहा है. मम्मी पापा और चाचा से 1 दिन पहले बात हुई थी. सुबह ही चाचा के गुजर जाने की खबर मिली है.

अब तक सामने आई जानकारी के मुताबिक हादसे की वजह ड्राइवर की नींद पूरी नहीं होना बताया जा रहा है. रिपोर्ट के मुताबिक ड्राइवर दो रात से सोया नहीं था. हालांकि, यह बात कितनी सच है यह नहीं कहा जा सकता. लेकिन यह सभी जानते हैं कि मई और जून यह 2 महीने ऐसे होते हैं जब उत्तराखंड के बस ड्राइवर बहुत कम नींद ले पाते हैं. क्योंकि इन 2 महीनों में लाखों यात्री उत्तराखंड पहुंचते हैं और यह पैसा कमाने का अच्छा मौका होता है इसलिए ड्राइवर दिन-रात उत्तराखंड के रास्तों पर गाड़ियां चलाते हैं.

मौके पर पहुंचे सीएम शिवराज सिंह ने उदय सिंह उनकी पत्नी अक्खी राजा, राजकुमारी और ड्राइवर हीरा सिंह से मुलाकात की. जहां पर ड्राइवर ने उन्हें बताया कि स्टेयरिंग फेल हो गया था. पहाड़ की तरफ गाड़ी घुमाने की बहुत कोशिश की लेकिन गाड़ी पेड़ से टकरा कर खाई में गिर गई. उदय सिंह का कहना है कि बहुत जोर से आवाज आई और ना जाने कितनी पलटी खाकर बस खाई में गिर गई जब होश आया तो पुलिस वालों ने उठाया. घायल अक्खी बाई ने होश में आते ही अपने बेटे के बारे में पूछा और बताया कि वहां पर कई लोगों की लाश पड़ी है.

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी की ओर से यह बताया गया है कि स्टेयरिंग फेल होने के चलते हादसा हुआ है. लेकिन फिर भी घटना की मजिस्ट्रियल जांच के आदेश दे दिए गए हैं. चार धाम यात्रा पर आने वाले यात्री सुरक्षित आ जा सके इसके लिए रजिस्ट्रेशन का काम लगातार किया जा रहा है.

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की ओर से मृतक के परिवार को 5-5 लाख रुपए की मदद देने की घोषणा की गई है. वहीं गंभीर रूप से घायलों को 50 हजार रुपए सरकार की ओर से दिए जाएंगे. घायलों के इलाज की फ्री व्यवस्था भी की जा रही है.