शिवसेना में शामिल हो सकती हैं उर्मिला मतोड़कर

0
48

मुंबई। लोकसभा चुनाव में हारने का ठीकरा पार्टी कार्यकर्ताओं पर थोपने वाली उर्मिला मातोंडकर की चिट्ठी आई है। इसमें संजय निरुपम को निशाना बनाया गया है। इसके बाद कांग्रेस में बवाल मच गया। खबर ये भी है कि उर्मिला कांग्रेस छोड़ कर शिवसेना में जा सकती हैं। भाजपा से भी बात हो रही है।

देवड़ा-निरुपम से खींचतान

उर्मिला मातोंडकर की चिट्ठी में मुंबई कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष संजय निरुपम और उनके दो साथियों संदेश कोंडविलकर और भूषण पाटिल के तरीकों पर सवाल उठाए हैं। हालांकि ये चिट्ठी सोलह मई की है, जिसे उर्मिला ने मिलिंद देवड़ा को भेजा है। उन्होंने लिखा कि चुनाव प्रचार में पार्टी नेताओं में तालमेल की कमी, जमीनी कार्यकर्ताओं की भूमिका, निरुपम और उनके दो साथियों ने ठीक से प्रचार नहीं किया। इनकी गैर जिम्मेदारी की वजह से हार हुई। चिट्ठी बाहर आने के बाद संजय निरुपम ने मिलिंद देवड़ा को लेकर ट्विट किया कि ‘एक युवा नेता जो पार्टी को राष्ट्रीय स्तर पर संभालना चाहता है, उसने लोकसभा उम्मीदवार की चिट्ठी मीडिया में लीक कर दी, क्या इसी तरीके से पार्टी मजबूत करेंगे। लोकसभा चुनाव में हार के बाद सही उर्मिला मातोंडकर का कांग्रेस के बड़े नेताओं से विवाद चल रहा था। मिलिंद देवड़ा ने भी उनके खिलाफ बयान दिए थे। संजय निरुपम से भी उर्मिला खींचतान चल रही है ।

शिवसेना- बीजेपी दे रही लालच

शिवसेना और भाजपा दोनों ही उन्हें प्रलोभन दे रही हैं। मौजूदा हालात को देखकर यही लग रहा है कि उर्मिला पाला बदल सकती हैं ।अगर वह भी ऐसा करती है तो कांग्रेस के लिए एक और बड़ा झटका होगा। लोकसभा चुनाव में कांग्रेस ने बड़ी उम्मीदों के साथ उर्मिला को मैदान में उतारा था। वह चुनाव नहीं जीत सकी लेकिन अब भी पार्टी को उनसे बड़ी आस है क्योंकि वह एक लोकप्रिय चेहरा है ।महाराष्ट्र में होने वाले विधानसभा चुनाव में बड़ा किरदार अदा कर सकती है ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here