म.प्र.: स्मार्ट फोन योजना को बंद करेगी कमलनाथ सरकार, शिवराज बोले-सरकार की बुद्धि भ्रष्ट

0
73
kamalnath

भोपाल : मध्यप्रदेश में मुख्यमंत्री बनने के बाद से ही कमलनाथ पूर्ववर्ती शिवराज सरकार की योजनाओं को बंद कर रही है। इसी कड़ी में शिवराज सरकार की एक और योजना बंद हो सकती है। दरअसल शिवराज सरकार के दौरान कॉलेज जाने वाले छात्रों के लिए शुरू हुई स्मार्टफोन योजना कमलनाथ सरकार में बंद होने की कगार पर पहुंच चुकी है। उच्च शिक्षा विभाग ने स्पष्ट कर दिया है कि फिलहाल स्मार्टफोन नहीं बांटे जाएंगे योजना की समीक्षा के बाद इसे नए स्वरूप में फिर से शुरू किया जाएगा।

दरअसल प्रदेश में ऐसे करीब पौने दो लाख छात्र हैं जिनको इस योजना के तहत स्मार्ट फोन दिया जाना है। शिवराज सरकार में उच्च शिक्षा विभाग ने नियमित तौर से कॉलेज जाने वाले प्रथम वर्ष के छात्रों को स्मार्टफोन उपलब्ध करवाए थे। वहीं वर्ष 2018 में भी 75 फीसदी उपस्थिति लाने वाले करीब पौने दो लाख स्टूडेंट को स्मार्टफोन दिए जाने थे जो कि अब तक नहीं दिए गए हैं।

योजना में हुआ घोटाला- उच्च शिक्षा मंत्री

वहीं प्रदेश के उच्च शिक्षा मंत्री जीतू पटवारी ने शिवराज सरकार पर छात्रों को घटिया स्मार्टफोन बांटे जाने का आरोप लगाया है। उनका कहना है कि शिवराज सरकार के दौरान दिए गए स्मार्टफोन आज के जमाने से मेल नहीं खाते हैं। साथ ही उन्होंने कहा है कि इस योजना के नाम पर करोड़ों रुपए का घोटाला किया गया है। जिसकी सरकार जांच करवाएगी।

जीतू पटवारी ने कहा कि स्मार्टफोन की योजना का मूल भाव वोट बैंक की राजनीति करना था। उन्होंने कहा कि शिवराज सरकार में दिए गए स्मार्टफोन छात्रों के किसी भी काम नहीं आए हैं 2100 रूपये का स्मार्टफोन चाइनीस करप्शन के अलावा कुछ भी नहीं था हमारी सरकार उसकी जांच करवा रही है।

शिवराज जेल में जाएंगे- जीतू पटवारी

मंत्री पटवारी ने कहा, 2 साल में जितने भी स्मार्टफोन बातें हैं उस योजना का कितना लाभ मिला है इसकी समीक्षा करें कराए जाने की भी बात की है। उन्होंने कहा कि इस योजना का नया प्रारूप नया संदर्भ उन्हें व्यवस्था बनाई जाएगी। स्मार्टफोन जैसी लुभावनी वोट बैंक की राजनीति को बंद किया जाएगा उन्होंने कहा कि इस योजना के तहत शिवराज सिंह चैहान की भी जांच की जा रही है वह जेल में जाएंगे।

शिवराज ने जताई आपत्ति-

इधर इस योजना पर प्रदेश के पूर्व सीएम शिवराज सिंह चैहान ने नाराजगी जाहिर की है। उनका कहना है कि कांग्रेस जानबूझकर उनकी सरकार की योजनाओं पर ताला लगा रही है। अगर ऐसा चलता रहा तो वे आंदोलन करेंगे। शिवराज ने कहा कि इससे पहले कमलनाथ सरकार ने संबल योजना को बंद किया उन्होंने दीनदयाल अंत्योदय योजना को बंद किया और आप मेरे भांजे भांजे को मिलने वाले स्मार्टफोन को भी बंद कर रहे हैं उन्होंने कहा कि सरकार की बुद्धि भ्रष्ट हो गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here