Breaking News

भ्रष्ट और कामचोर अफसरों की खैर नहीं, योगी ने मांगी लिस्ट

Posted on: 03 Jul 2019 12:48 by Surbhi Bhawsar
भ्रष्ट और कामचोर अफसरों की खैर नहीं, योगी ने मांगी लिस्ट

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार भ्रष्ट अफसरों के खिलाफ एक्शन में नजर आ रही है। हाल ही में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ऐसे अफसरों ली लिस्ट मांगी है जो अपने कार्यकाल में भ्रष्ट रहे हैं या कामचोर रहे है। हालांकि ये लिस्ट आने में अभी कुछ महीनों का समय लगेगा।

200 अफसरों को कर चुकी है रिटायर

योगी सरकार ने पिछले दो सालों में अलग-अलग विभागों में 200 से ज्यादा अफसरों और कर्मचारियों को जबरन रिटायर कर दिया है। इन दो वर्षों में योगी सरकार ने 400 से ज्यादा अफसरों, कर्मचारियों को निलंबन और डिमोशन जैसे दंड भी दिए हैं। इस कार्रवाई के अलावा अभी भी 150 से ज्यादा अधिकारी ऐसे है जो सरकार की रडार पर हैं।

किस विभाग में कितने अफसरों की हुई छुट्टी

योगी सरकार की भ्रष्ट और कामचोर अधिकारियों को जबरन रिटायर कराने की मुहिम में सबसे ज्यादा गृह विभाग में 51 कर्मचारियों को जबरन रिटायर किया गया। भ्रष्टाचार के आरोप में राजस्व विभाग के 36 अधिकारियों व कर्मचारियों को रिटायर किया गया। श्रम विभाग में 16 और वन विभाग में 11 लोगों को जबरन रिटायर किया जा चुका है। संस्थागत वित्त वाणिज्य कर एवं मनोरंजन कर विभाग में 16 लोग हटाए जा चुके हैं।

इसके अलावा 7 लोगों को दुग्ध विकास विभाग से रिटायर किया गया। चीनी उद्योग एवं गन्ना विकास विभाग से 6 लोगों की छुट्टी की गई। खादी एवं ग्रामोद्योग विभाग में 3, नगर विकास व आबकारी विभाग में 5 और बाल एवं पुष्टाहार विभाग में दो लोग जबरन रिटायर किए गए। टेक्निकल एजुकेशन डिपार्टमेंट से 2 लोग, कारागार प्रशासन एवं सुधार से 4 लोग, बेसिक शिक्षा विभाग से 8 लोग सेवा से बाहर किए गए।

इसके अलावा लघु सिंचाई एवं भूगर्भ जल से 2 लोग, आवास एवं शहरी नियोजन विभाग से पांच लोग, भूतत्व एवं खनिकर्म से दो लोग, व्यवसायिक शिक्षा व कौशल विकास से 3 लोग और युवा कल्याण विभाग से तीन लोगों को घर भेज दिया गया। ग्रामीण अभियंत्रण विभाग में भ्रष्टाचार के आरोप में चार, सैनिक कल्याण और खेलकूद विभाग में एक-एक कर्मचारी की परमानेंट छुट्टी कर दी गई। वहीं आयुष, पशुधन, समाज कल्याण विभाग, खाद रसद में एक-एक कर्मचारी को जबरन रिटायर किया गया।

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com