Trending News

यूपी सरकार ने 14.50 लाख उड़ा दिए हवा में

Posted on: 09 Aug 2018 20:39 by Rakesh Saini
यूपी सरकार ने 14.50 लाख उड़ा दिए हवा में

मेरठ:  हमेशा चर्चाओं  में रहने वाली योगी सरकार अब कावडियो के स्वागत में लाखों रूपये के खर्च को लेकर फिर एक बार चर्चा में बनी हुई हैं। इतने ज्यादा खर्च हुए रूपये को लेकर राजनीती में कई सवाल खड़े होने लगे है यह राजनीती में बहुत बड़ा मुद्दा बन सकता है।

बताया जा रहा है कि यूपी सरकार ने हेलीकॉप्टर से मेरठ और उसके आसपास के जिलों में कांवडियों के स्वागत पर फुल बरसाने के लिए 14 लाख रूपये खर्च किये थे। लेकिन सरकार ने यह हेलीकॉप्टर कांवड़ यात्रा पर निगरानी करने के उद्देश्य से किराए पर लिया था।

कहा रहा है कि 7 से 9 अगस्त के बीच मेरठ और उसके आसपास के जिलों में कांवड़ियों पर निगरानी रखने के लिए हेलीकॉप्टर किराए पर लिया गया था। आदेश के मुताबिक, सरकार ने यह हेलीकॉप्टर एयर चार्टर सर्विसेज प्राइवेट लिमिटेड से किराए पर लिया था। सरकार ने इस हेलीकॉप्टर के लिए 14.31 लाख रुपए का किराया चुकाया।

दरअसल कुछ दिन पहले पुलिस प्रशासन कांवड़ यात्रियों पर फुल बरसाते हुए नजर आये थे। हालांकि गृह विभाग से जारी आदेश के मुताबिक अधिकारियों को फूल बरसाने का कोई भी आदेश जारी नहीं किया गया था।

हालांकि यूपी पुलिस ने बयान जारी किया था, कि फूल बरसाना देश की संस्कृति है। और स्वागत करने का एक तरीका है। यह एक संकेत है कि सरकार और प्रशासन कांवड़ यात्रियों का स्वागत कर रहा है। प्रशासन ने इसे केवल एक प्रतीकात्मक संकेत बताया था। पुलिस प्रशासन ने अपने बयान में कहा था कि पुलिस यह संदेश देना चाह रही है कि वे एक सहायक के रूप में कार्य कर रहे थे, न कि कांवड़ यात्रा पर नियंत्रण कर रही है। फूल बरसाने से किसी प्रकार के नियमों का उल्लंघन नहीं होता।

प्रदेश गृह विभाग ने 27 जुलाई को अपने आदेश में कहा था कि मेरठ रेंज में 4 से 9 अगस्त तक कांवड़ यात्रा पर निगरानी रखने के लिए हेलीकॉप्टर से निगरानी रखी जाएगी। उस वक्त पवन हंस लिमिटेड से हेलीकॉप्टर किराए पर लेने के लिए 21.64 लाख का बजट तय किया गया था।

लेकिन एयर चार्टर सर्विसेज यह काम कम कीमत में करने को राजी हो गया, जिसके बाद पुराना आदेश निरस्त कर दिया गया। कांवड़ यात्रा पर हवाई निगरानी करने का काम पहली बार किया गया था। 18 जुलाई को समीक्षा बैठक के दौरान मुख्यमंत्री योगी ने हवाई निगरानी के आदेश जारी किए थे।

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com