मीडिया का अनोखा विरोध प्रदर्शन, काले छपे अखबारों के पहले पन्ने

0
51

नई दिल्ली| ऑस्ट्रेलिया में मीडिया के लिए सख्त कानून लाने से वहां के पत्रकार सरकार से नाराज है, इसे लेकर 21 अक्टूबर को सभी अखबारों ने अपना पहला पन्ना ‘ब्लैक आउट’ कर विरोध किया। पत्रकारों का कहना है कि सरकार मीडिया पर लगाम लगाने की कोशिश कर रही है जिसके विरोध में यह कदम उठाया गया है। अखबारों के इस अभियान में ‘राइट टू नो कोएलिशन’ का कई टीवी, रेडियो और ऑनलाइन समूहों ने भी समर्थन किया है।

मीडिया हाउस का कहना है कि सरकार के सख्त कानून उन्हें लोगों तक सही जानकारी देने से रोक रहे है। अखबारों ने यह कदम इस साल जून में ऑस्ट्रेलिया के एक बड़े मीडिया समूह ऑस्ट्रेलियन ब्रॉडकास्टिंग कॉर्पोरेशन (एबीसी) के मुख्यालय और एक पत्रकार के घर पर छापे मारने के विरोध में उठाया है।

विरोध करने वाले अखबारों का कहना है कि राष्ट्रीय सुरक्षा कानूनों की वजह से रिपोर्टिंग पर सरकार अपना नियंत्रण कर रही है। जिससे देश में एक ‘गोपनीयता की संस्कृति’ बन गई है। इस पर सरकार का कहना है कि वो प्रेस की आजादी का समर्थन करती है लेकिन कानून से बड़ा कोई नहीं है कानून सभी के लिए एक समान है। जो कि सरकार पर भी लागू होता है, और किसी पत्रकार पर भी। बता दें कि ऑस्ट्रेलिया में प्रेस की आजादी पर एक जांच की रिपोर्ट अगले साल संसद में पेश की जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here