कश्मीर के हालात पर UN चिंतित, कहा- भारत बहाल करे नागरिकों के अधिकार

संयुक्त राष्ट्र ने जम्मू-कश्मीर के हालात पर चिंता जताई है और भारत से कहा कि वह वहां के नागरिकों के अधिकार बहाल करें। हालांकि यूएन ने सरकार की प्रशंसा भी की है। यूएन ने मंगलवार को कहा है कि जम्मू-कश्मीर के नागरिक अधिकारों से वंचित है। हमने भारत के अधिकारियों से घाटी के लोगों के अधिकार बहाल करने की मांग की है।

0
52

नई दिल्ली। संयुक्त राष्ट्र ने जम्मू-कश्मीर के हालात पर चिंता जताई है और भारत से कहा कि वह वहां के नागरिकों के अधिकार बहाल करें। हालांकि यूएन ने सरकार की प्रशंसा भी की है। यूएन ने मंगलवार को कहा है कि जम्मू-कश्मीर के नागरिक अधिकारों से वंचित है। हमने भारत के अधिकारियों से घाटी के लोगों के अधिकार बहाल करने की मांग की है।

संयुक्त राष्ट्र ने कहा है कि जम्मू-कश्मीर में सुधार के लिए भारत सरकार की ओर से कई कदम उठाए गए हैं। मानव अधिकारों के लिए संयुक्त राष्ट्र के उच्चायुक्त के प्रवक्ता रूपर्ट कोल्विले ने कहा कि हम इस बात को लेकर चिंतित है कि कश्मीर में लोग अधिकारों से वंचित हैं। हम भारत से अपील करते हैं कि अधिकारों को पूरी तरह से बहाल किया जाए।

गौरतलब है कि जम्मू-कश्मीर से 5 अगस्त को विशेष राज्य का दर्जा छिने जाने के बाद से ही वहां पर सुरक्षा कड़ी कर दी गई थी और राज्य को दो केन्द्र शासित राज्यों में विभाजित कर दिया गया था। जिसके चलते घाटी में कई प्रतिबंध लगा दिए गए थे।

बता दे कि यूएन का बयान ऐसे समय आया है जब यूरोपीय यूनियन के 27 सांसद आज कश्मीर दौरे पर हैं। यूरोपीय सांसदों का प्रतिनिधि मंडल आज सुबह 10 बजकर 15 मिनट पर दिल्ली से रवाना होकर करीब 11.15 बजे श्रीनगर पहुंचा था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here