Breaking News

भारत ने दी प्रचंड तूफान ‘फानी’ को मात, UN ने की तारीफ़ | INDIA overwhelmingly defeats ‘Fani’, UN Praised

Posted on: 04 May 2019 15:03 by bharat prajapat
भारत ने दी प्रचंड तूफान ‘फानी’ को मात, UN ने की तारीफ़ | INDIA overwhelmingly defeats ‘Fani’, UN Praised

शुक्रवार को पूर्वी प्रदेशों के तटों पर आए भयंकर चक्रवात तूफान फानी का प्रचंड रूप देखने को मिला था। मौसम विभाग की भविष्यवाणी और शासन-प्रसाशन द्वारा की गई तैयारियों की बदौलत ना के बराबर जनहानि हुई है। जिसके चलते अब सयुक्त राष्ट्र ने भारत की तारीफ़ की है।

आपदा के खतरों से जुड़ी यूएन की एजेंसी (ओडीआरआर) के प्रवक्ता डेनिस मैक्लीन ने कहा कि भारत सरकार की जीरो कैजुएलिटी पॉलिसी और भारतीय मौसम विभाग की सटीक भविष्यवाणी के चलते 11 लाख लोगों को समय रहते सुरक्षित स्थानों पर पंहुचाया गया और इस तूफान से लोगों की मौते कम हुई।

बता दे कि भारत में 20 साल बाद आए ऐसे भंयकर तुफान से उडिसा में करीब 8 लोगों की मौत हो गई और कई समुद्र तट पर स्थित कई क्षेत्र जलमग्न हो गए है। वही ‘फानी‘ ने राज्य के लगभग 11 लाख लोगों को प्रभावित किया है।

आपदा जोखिम न्यूनीकरण के लिए संयुक्त राष्ट्र महासचिव के विशेष प्रतिनिधि मामी मिजुतोरी ने बताया कि ‘अत्यंत प्रतिकूल स्थितियों के प्रबंधन में भारत का हताहतों की संख्या बेहद कम रखने का दृष्टिकोण, रूपरेखा के क्रियान्वयन में और ऐसी घटनाओं में अधिक जिंदगियां बचाने में बड़ा योगदान है।’

उडीसा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक की माने तो पिछले 24 घंटे में रिकॉर्ड 1.2 मिलियन लोगों को सुरक्षित स्थानों पर भेजा गया। जिसमें गंजम से 3.2 लाख, पुरी से 1.3 लाख लोगों को शिफ्ट किया गया। इसके लिए करीब 7000 रसोईघरों और 9000 शेल्टर का इंतजाम भी किया गया। इस काम में 45,000 से ज्यादा वॉलंटियर लगे हुए थे।

केन्द्र और उड़िसा सरकार के सभी संबंधित विभागों ने फानी से निपटने के लिए कमर कस ली थी। साथ ही आपदा प्रबंधन के करीब 1000 प्रशिक्षित कर्मचारियों को खतरे की आशंका वाली जगहों पर तैनात किया गया और करीब 300 हाईपावर बोट को भी तैनात किया गया। साथ ही आमजन की सुरक्षा के लिए टीवी, कोस्टल साइरन और पुलिस के साथ कई साधनों का उपयोग किया गया। इसके लिए उड़िया भाषा का ही इस्तेमाल किया गया। संदेश साफ था- तूफान आ रहा है, शिविरों में शरण लें।

भरतीय मौसम विभाग ने भी फानी को ‘अत्यंत भयावह चक्रवाती तूफान’ की श्रेणी में रखा है। पश्चिम बंगााल से टकराने के बाद फानी बागंलादेश के तटों पर दस्तक देगा जिसे अलर्ट पर रखा है। जिसके चलते संयुक्त राष्ट्र की एजेंसियां फानी की रफ्तार पर पैनी निगाह भी बनाए हुए है। साथ ही बांग्लादेश के शरणार्थी शिविरों में मौजूद परिवारों को बचाने के इंतजाम कर रही हैं।

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com