एक बार फिर विहार सड़क दुर्घटना में दो साध्वी का आकस्मिक देवलोक गमन | Once again, accident of two sadhvi in ​​Vihar road accident

0
147
road accident article Santosh Jain Mama

आखिर कब तक ऐसी घटनाओं में हमारे पूज्य साधु साध्वी भगवंत अपनी जीवन की इतिश्री करते रहेंगे। आखिर कब संघ समाज व कान्फ्रेंस प्रमुख बिहार की कोई ठोस कार्य योजना बनाने के लिए आगे आएंगे?

Must read : अपोलो हॉस्पिटल की डॉक्टर सरिता राव कि आखिर लोग तारीफ क्यों करते हैं

वैसे तो कई बार घोषणाएं हो चुकी कि हमारे युवा पदाधिकारी विहार सेवा में लाभ लेगें। कई प्रांतों में यह व्यवस्था सुचारू रूप से चल भी रही है किंतु राष्ट्रीय स्तर पर अभी यह व्यवस्था लागू नहीं हो पा रही है। हर प्रांत में पदों की लंबी फेहरिस्त बावजूद सिर्फ और सिर्फ अपने लेटर पैड और विजिटिंग कार्ड पर शोभायमान बने रहेंगे ?

कब हम विहार के बारे में कोई ठोस उपाय लागू करेंगे? कब विहार के दौरान एक दूसरे संघ जब तक गंतव्य तक ना पहुंचे साधु संतों की सेवा में अपनी भूमिका निभाएंगे? संघ की बहुत हानि हो चुकी है अब सिर्फ और सिर्फ विहार के ठोस कार्यक्रम बनाने की आवश्यकता है। हमारे अन्य सभी कार्यक्रम बाद में पहले विहार के बारे में सोचें।

Must read : कमल गुप्ता विश्व बंधु की कविता

हर प्रांत में एक स्थायी सूचना केंद्र बनाए और वहां से सारी सूचनाओं का आदान-प्रदान सोशल मीडिया के माध्यम से सभी संप्रदाय के संत सती के विहारसूचना प्रत्येक संघ तक जानकारी पहुंच सके इससे विहार सेवा में वो संघ सहयोगी बन सके। अविलंब जैन कांफ्रेंस सहित सभी प्रमुख सामाजिक संगठन इस पर चिंतन मनन कर अपनी मीटिंग में निर्णय लें।

-संतोष जैन मामा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here