Breaking News

मप्र: तुवर खरीद मार्च 2019 से

Posted on: 11 Feb 2019 16:41 by Surbhi Bhawsar
मप्र: तुवर खरीद मार्च 2019 से

व्यवसायिक सूत्रों के नुसार मध्यप्रदेश में 2018-19 के खरीफ मार्केटिंग सीजन में उत्साहित अरहर की सरकारी खरीद 1 मार्च 2019 से शुरू करने का निर्णय लिया गया है। आधिकारिक सूत्रों के अनुसार मध्यप्रदेश की मंडियों में तुवर के नए माल की जोरदार आवक मार्च में आरंभ होने की उम्मीद है। इसलिए 1 मार्च से राज्य सरकार की अधीनस्थ एजेंसियों द्वारा न्यूनतम समर्थन मूल्य पर किसानों से इसकी खरीद शुरू कर दी जाएगी।

किसानो की समस्या ( वर्तमान सन्दर्भ में ) : नीरज राठौर की कलम से

उल्लेखनीय है कि 2018 सीजन के लिए तुवर का न्यूनतम समर्थन मूल्य 5675 प्रति क्विंटल निर्धारित किया गया है जो 2017-18 सीजन के समर्थन मूल्य 5450 प्रति क्विंटल से 225 रूपये ज्यादा है।

क्या धर्म का दूसरा, तीसरा और चौथा नाम प्रदूषण है, नीरज राठौर की कलम से…..

मूल्य समर्थन योजना के तहत 3 महीने तक तुवर की खरीद प्रक्रिया जारी रहेगी और मई के अंत तक चलेगी। ध्यान देने की बात है कि मध्य प्रदेश देश के प्रमुख तुवर उत्पादक राज्यों में से एक है। वह पिछले साल की तुलना में चालू सीजन के दौरान अरहर का उत्पादन करीब 25 प्रतिशत घटकर 6.33 लाख पर सिमट जाने का अनुमान है। हालांकि 2018-19 के खरीफ सीजन में अन्य राज्यों में भी अरहर के उत्पादन में कमी आई है लेकिन फिर भी इसके दाम में जोरदार बढ़ोतरी नहीं देखी जा रही है। कुल मिलाकर दलहन बाजार के रुख के मुताबिक ही तुवर के दाम में उतार-चढ़ाव आ रहा है।

How to reach the 33 to 132 million annual turnover | कैसे 33 से 132 करोड़ वार्षिक टर्नओवर तक पहुंचाया कम्पनी को

मध्यप्रदेश में खरीफ कालीन मूंग, उड़द, मूंगफली तथा तिल की सरकारी खरीद की प्रक्रिया 25 जनवरी 2019 को बंद हो जाएगी और इसके बाद किसानों को खुले बाजार में अपना उत्पाद भेजने के लिए विवश होना पड़ेगा। मालूम हो कि मध्यप्रदेश में भावांतर भुगतान योजना सोयाबीन एवं मक्का के लिए लागू की गई थी जो 19 जनवरी को बंद हो गई। तुवर की सरकारी खरीद शुरू करने पर किसानों को कुछ राहत मिलेगी।

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com