विदेश में तिरंगे का अपमान, भारतीय महिला पत्रकार ने इस तरह सिखाया सबक, देखे वीडियो

पूनम जोशी - 'मुझे इस बात का अंदाजा ही नहीं था कि देश के तिरंगे को बचाने के लिए किए गए मामूली काम के लिए मैं ट्विटर पर ट्रेंड करने लगूंगी।'

0
45
poonam joshi

भारत में तिरंगे का मान हर हिंदुस्तानी रखता हैं। वहीं यदि कोई इसका अपमान कर रहा होता है तो कोई भी भारतीय उसे रोकने से पीछे नहीं हटते हैं। ऐसे ही 15 अगस्त को पूरे हिंदुस्तान और विदेशों में रह रहे भारतीयों ने तिरंगा फहराकर स्वतंत्रता दिवस का जश्न मनाया। साथ ही स्वतंत्रता दिवस के मौके पर लंदन में भारतीय हाई कमीशन के बाहर आजादी का जश्न मनाया जा रहा था ।

तब ही खालिस्तान के समर्थकों ने इसका विरोध प्रदर्शन किया। साथ ही तिरंगे का अपमान भी किया और गुंडागर्दी पर उतर आए। यह सब देख वहां पर मौजूद महिला पत्रकार पूनम जोशी अपने आपको रोक नहीं सकीं और पाकिस्तान और खलिस्तान समर्थकों से भिड़ गईं। इसकी एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है इस वायरल वीडियो में देखा जा सकता है कि कैसे भारतीय महिला समर्थकों से भीड़ गई।

उन्होंने विरोध कर रहे लोगों से तिरंगे को छीन लिया।घटना के बाद उन्होंने ट्वीट कर कहा, ऐसा तब होता है जब 1000 बकरियों को भारतीय शेरों का सामना करने के लिए भेजा जाता है। पाकिस्तान के 100 लोगों ने हमारा झंडा छीन लिया और इसमें से 1 भारतीय महिला इसे वापस ले आई। ये वीडियो सोशल मीडिया पर काफी ज्यादा वायरल हो रहा हैं।

बता दे, पूनम जोशी लंदन स्थित भारतीय हाई कमीशन के बाहर स्वतंत्रता दिवस समारोह की कवरेज करने गई थीं, जहां पाकिस्तान और खालिस्तान समर्थकों का प्रदर्शन चल रहा था। पूनम जोशी की देशभक्ति और बहादुरी का वीडियो देखते ही देखते ट्वीटर पर ट्रेंड करने लगा। सोशल मीडिया पर लोग पूनम जोशी के जज्बे और बहादुरी को सलाम कर रहे हैं।

यूजर्स का कहना है कि पूनम को राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सम्मान मिलना चाहिए। उन्होंने अपनी फेसबुक पोस्ट में लिखा, ‘मुझे इस बात का अंदाजा ही नहीं था कि देश के तिरंगे को बचाने के लिए किए गए मामूली काम के लिए मैं ट्विटर पर ट्रेंड करने लगूंगी।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here