अमृतसर रेल हादसे पर DRM का चौंकाने वाला बयान

0
23
amritsar train hadsa

Train driver said this on Amritsar tragedy, detained for now

विजयदशमी के पर रावण दहन करते समय पंजाब के अमृतसर में 60 से अधिक लोगों की दर्दनाक मौत हो गई है। यह घटना रावण दहन करने के बाद कुछ लोग रेलवे ट्रैक पर खड़े थे और अचानक ट्रेन आ गई जिसके करना यह हादसा हुआ है। इस घटना को लेकर फिरोजपुर के DRM विवेक कुमार ने कहा की रेल ड्राइवर ने ट्रेन की चाल कम की थी। इसके बावजूद भी कई लोगों को रेल ने चपेट लिया।

amritsar_train_accident

विवेक कुमार ने कहा कि जहां यह जानलेवा हादसा हुआ उसके पूर्व ही एक मोड़ है, जब यह हादसा हुआ उस वक्त रेल की चाल लगभग 90 से 100 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ़्तार से आ रही थी। रेल चालक ने जब लोगों का झुंड देखा तो चाल कम करने की कोशिशें की और लगभग 68 किमी प्रति घंटे तक ही चाल कम कर पाया था कि हादसा हो गया। इस चाल से चल रही रेल को रोकने के लिए कम से कम 700 मीटर की दूरी आवश्यक होती है।

रेल में सफ़र कर रहे यात्रियों की सुरक्षा के लिए रेल को अमृतसर ले गया ट्रेन। रेल के द्वारा लोगों को कुचलने के बाद उसकी चाल लगभग दस किमी प्रति घंटे हो गई थी, लेकिन हादसे से गुस्साएं लोगों ने रेल पर जमकर पथराव करना शुरू कर दिया था। रेल गार्ड ने चालक को कहा कि लोग आक्रोश में है और यात्रियों की सुरक्षा के लिए रेल को रोकना उचित नही है। इसके बाद चालक रेल को अमृतसर लेकर पहुंच गया। डीआरएम के अनुसार चालक सुरक्षित है, और यात्रियों की सुरक्षा को देखते हुए वह हादसे के बाद नहीं रुका।

पूर्व क्रिकेटर और पंजाब सरकार के मंत्री नवजोत सिद्दू ने रेल को लेकर बयान दिया था की उसमे हॉर्न ही नहीं था। लेकिन डीआरएम ने पुष्टि करते हुए बताया की रेल में हॉर्न है और वह सही है। डीआरएम ने यह भी दावा किया चालक ने घटना से पहले हॉर्न बजाया था।

डीआरएम से जब सवाल किया गया कि उन्हें इसकी ख़बर कब मिली तो उन्होंने बताया की उन्हें ठीक से याद नहीं है। वह यह भी नहीं बता पाए की किस समय पर हादसा हुआ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here