Breaking News

आईआईएम इंदौर ने सौंपी ट्रैफिक मैनेजमेंट रिपोर्ट | Traffic Management Report submitted by IIM Indore

Posted on: 14 Apr 2019 14:41 by Surbhi Bhawsar
आईआईएम इंदौर ने सौंपी ट्रैफिक मैनेजमेंट रिपोर्ट | Traffic Management Report submitted by IIM Indore

इंदौर के ट्रैफिक पुलिस विभाग ने शहर में यातायात की स्थिति में सुधार के बारे में एक अध्ययन के लिए आईआईएम इंदौर से संपर्क किया है। प्रोफेसर हिमांशु राय, निदेशक, आईआईएम इंदौर, प्रोफेसर सौरभ चंद्रा और प्रोफेसर राजहंस मिश्रा, संकाय सदस्य, प्रोफेसर राय के नेतृत्व में इस विषय का अध्ययन कर रहे हैं। इस टीम ने जनवरी 2019 में इस अध्ययन शुरू किया था और शहर के चारों ओर विभिन्न क्रॉसिंग और सिग्नल के सर्वेक्षण और निरीक्षण के माध्यम से अनुसंधान कार्य में बड़े पैमाने पर काम किया है।

प्रोफेसर राजहंस मिश्रा ने 09 अप्रैल, 2019 को एडीजी श्री वरुण कपूर को रिपोर्ट सौंप दी। उस दौरान डीएसपी-ट्रैफिक श्री उमाकांत भी उपस्थित थे।

रिपोर्ट की मुख्य विशेषताएं इस प्रकार हैं:

  • रिपोर्ट ने पूरे शहर में दुर्घटना की रोकथाम और क्षमता प्रबंधन पर ध्यान केंद्रित किया।
  • इसमें वर्ष 2025 तक आवश्यकताओं के अनुसार विभिन्न यातायात प्रबंधन युक्तियों का भी उल्लेख किया गया है।
  •  सिफारिशें तीन स्तरों पर उपलब्ध कराई गई हैं- परिचालन, यानी (अल्पावधि), सामरिक (मध्यम अवधि) और पांच आयामों में रणनीतिक (दीर्घकालिक)। ये हैं:
  1. शिक्षा
  2. इंजीनियरिंग (सडकों का निर्माण )
  3. प्रवर्तन
  4. आपातकालीन समस्याओं का निवारण
  5. वातावरण की सुरक्षा
  • टीम ने पूरे शहर को जोड़ने करने के लिए एक नया परिपत्र रिंग रोड भी प्रस्तावित किया और इंदौर आने वाले सभी राजमार्गों से जोड़ने का भी सुझाव दिया।
  • महत्वपूर्ण क्रॉसिंग पर फ्लाई-ओवर (जैसे वाइट चर्च, गीता भवन, राऊ सर्कल, भंवर कुआँ आदि) की सिफारिश की गई ।
  • भीड़भाड़ वाले इलाकों में ऊंचे रास्ते भी सुझाए गए थे।
  • गूगल ट्रैफिक डेटा का उपयोग ट्रैफ़िक का विश्लेषण करने के लिए किया जाता है।
  • बाएं मुड़ने से बचने के लिए विस्तारित क्रॉस के लिए सुझाव महत्वपूर्ण क्रॉसिंग पर मुड़ता है।
  • टकराव से बचने के लिए सिग्नल से सर्विस रोड तक वन-वे मूवमेंट की आवश्यकता होती है (यानी दूसरी तरफ से आने वाले लोगों को रोकने के लिए वन-वे स्पाइक्स का उपयोग)
  • रेड लाइट वॉयलेशन डिटेक्शन (आरएलवीडी) और ऑटोमैटिक नंबर प्लेट रिकॉग्निशन (एएनपीआर) सिस्टम के साथ इंटीग्रेटेड ट्रैफिक मैनेजमेंट एंड मॉनिटरिंग सिस्टम सभी श्रेणी के “ए” सिग्नलों की आवश्यकता है।
  • नियमित अंतराल पर सड़कों की सुरक्षा ऑडिट की आवश्यकता है।
  • विभिन्न स्थानों पर यात्रियों के लिए इंटरसिटी बस स्टैण्ड के साथ विजय नगर के पास बाईपास पर इंटरसिटी बस टर्मिनल का विकास करने की सिफारिश की गई।
  • सार्वजनिक परिवहन के लिए फीडर सिस्टम का विकास भी उपयोगी होगा।
  • टीम ने राजीव चौक (रिंग रोड) से रेडिसन स्क्वायर तक एक साइकिल पथ प्रस्तावित किया
  • पलासिया स्क्वायर से विजय नगर स्क्वायर तक एबी रोड के माध्यम से एलआईजी स्क्वायर से एक और रोड की सिफारिश की।

परियोजना के दौरान आईआईएम इंदौर की टीम को डीएसपी ट्रैफिक उमाकांत और एएसपी ट्रैफिक महेंद्र कुमार जैन का लगातार समर्थन एवं सहयोग मिला।

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com