Breaking News

74 की उम्र में 28 चुनाव हारे तीतर सिंह

Posted on: 03 May 2019 17:25 by Parikshit Yadav
74 की उम्र में 28 चुनाव हारे तीतर सिंह

जयपुर | राजस्थान के गुलाबेवाला गांव के रहने वाले तीतर सिंह 74 बरस के हैं। अभी तक 28 बार चुनाव लड़ चुके हैं। एक बार भी नहीं जीत पाए। तीतर सिंह तीन बार वार्ड, पांच बार सरपंच, दो बार पंचायत समिति सदस्य, दस बार विधानसभा और आठ बार लोकसभा चुनाव के लिए फार्म जमा करवा चुके हैं। वे मजदूर हैं और रोजाना 142 रुपए कमा लेते हैं।
जमा किए फार्म में उन्होंने एक हजार रुपए नकद होना बताया है और दो लाख रुपए का छोटा-सा घर। वे राजस्थान के श्रीगंगानगर से चुनाव लड़ेंगे। यहां ग्यारह उम्मीदवार और हैं।

तीतर सिंह बताते हैं कि पहला चुनाव उन्होंने 1983 में लड़ा था। चुनाव लडऩे का जज्बा उन्हें मुश्किल हालातों से आया था। उस समय परिवार की हालत खराब थी। खाने-पीने का ठिकाना नहीं था। गरीबों को देख तीतर सिंह ने चुनाव लडऩा शुरू किया, पर किस्मत ने साथ नहीं दिया। 2014 लोकसभा चुनाव में तीतर सिंह को चार हजार वोट मिले थे। इसके पहले कुछ चुनाव में पांच-छह सौ वोट मिलते रहते हैं, लेकिन कभी आंकड़ा पांच हजार से ऊपर नहीं गया। तीतर सिंह कहते हैं कि देश के नेता गरीबों के लिए कुछ नहीं करते, सिर्फ घर भरने के लिए चुनाव मैदान में आते हैं। उनका मानना है कि गरीब तबके के हैं, इसलिए गरीबों की मुश्किल समझते हैं। अगर उन्हें मौका दिया जाएगा तो वे समस्याएं निपटाएंगे।

गांव में प्रचार के लिए तीतर सिंह पुरानी जीप में पांच दोस्तों के साथ घूम रहे हैं। भरोसा दे रहे हैं कि अगर चुनाव जीतते हैं तो हर गरीब को घर और खेती के लिए पांच बीघा जमीन देंगे। श्रीगंगानगर और हनुमानगढ़ जिले में सभी युवाओं को छोटा-छोटा कारोबार खुलवाएंगे। गांव की लड़कियों के लिए भी योजना बनाएंगे। ब”ाों के लिए वे स्कूल खुलवाएंगे और होनहार ब”ाों को वजीफा दिलवाएंगे। तीतर सिंह के दो बेटे अकबर सिंह और रशपाल सिंह हैं। तीतर की पत्नी गुलाब कौर भी उनके साथ प्रचार कर रही हैं। वे महिलाओं के बीच पहुंच रही हैं।

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com