तीन लाख गर्भवती महिलाओं ने फायदा उठाया जननी एक्सप्रेस का

0
32

भोपाल। मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा है कि राज्य सरकार का लक्ष्य है कि आम आदमी की बुनियादी सुविधाओं में निरंतर वृद्धि हो जिससे वे एक सुरक्षित और सम्मानित जीवन जी सकें। कमलनाथ 15 अक्टूबर को लाल परेड ग्राउंड में 108 जननी एंबुलेंस के 45 नए वाहनों का लोकार्पण कर रहे थे। यह वाहन पुराने वाहनों के स्थान पर बदले गए हैं। इस मौके पर लोक स्वास्थ्य परिवार कल्याण मंत्री तुलसी सिलावट एवं जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा उपस्थित थे। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारी प्राथमिकता है कि प्रदेश में नागरिकों को हर सुविधाएं मिलें। एक ऐसा वातावरण प्रदेश में बने जिसमें हर वर्ग खुश रहे और हमारा प्रदेश खुशहाल बनें। सीएम कमलनाथ ने कहा कि 108 जननी एंबुलेंस में पुराने वाहनों को बदला जाना इसी कड़ी में एक प्रयास है।

उन्होंने कहा कि नए एंबुलेंस वाहन के शुरू होने से सुदूर अंचलों में रहने वाले लोगों को सुचारू रूप से त्वरित सुविधा उपलब्ध हो सकेगी और उन्हें समय पर इलाज मिल सकेगा। मुख्यमंत्री ने 108 जननी एंबुलेंस के नए वाहनों को हरी झंडी दिखाकर आम जनता की सेवा के लिए रवाना किया। वर्तमान में प्रदेश के 51 जिलों में 737 संजीवनी 108 जननी एंबुलेंस वाहन संचालित हैं। जिनमें से 2.5 लाख किलोमीटर चल चुके अथवा 5 वर्ष से अधिक पुराने हो चुके वाहनों में से 50 वाहनों को नए वाहनों में बदलने की योजना है। जननी एक्सप्रेस योजना में अप्रैल 2019 से सितंबर 2019 तक कुल 2 लाख 94 हजार 595 गर्भवती महिलाओं तथा 39 हजार 299 बीमार शिशुओं को घर से चिकित्सालय तक पहुँचाया गया। इसी प्रकार कुल 2 लाख 64 हजार 513 महिलाओं को प्रसव उपरान्त तथा 28 हजार 24 बीमार शिशुओं को अस्पताल से घर तक पहुंचाया गया। कुल 77 हजार 446 हितग्राहियों को एक अस्पताल से दूसरे उच्च संस्थान तक पहुंचाया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here