Breaking News

वैष्णो देवी यात्रा मार्ग पर आतंकी हमले का खतरा, सेना अलर्ट | Threat of Terrorist Attack on Vaishno Devi Yatra, Army Alert

Posted on: 16 Apr 2019 08:38 by Pawan Yadav
वैष्णो देवी यात्रा मार्ग पर आतंकी हमले का खतरा, सेना अलर्ट | Threat of Terrorist Attack on Vaishno Devi Yatra, Army Alert

जम्मू-कश्मीर में लगातार हो रहे आतंकी हमला के बीच खुफिया एजेंसियों ने अलर्ट जारी किया है कि वैष्णो देवी यात्रा मार्ग पर आतंकी हमला हो सकता है। इसी के चलते सेना ने यात्रा के प्रमुख सांझी छत्त क्षेत्र के जंगलों में सर्चिंग अभियान चलाया। सुरक्षा की दृष्टि से शाम के समय भैरो घाटी और यात्रा के पुराने रास्ता भक्तों के लिए बंद कर दिया है। हालांकि कड़ी चौकसी के बीच नए मार्ग से आवागमन चालू है।  मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक खुफिया और सुरक्षा एजेंसियों को दो-तीन आतंकियों के छिपे होने की खबर मिली थी। इसके बाद सेना ने जंगल में तेजी से सर्चिंग अभियान चलाया।

 जैश फिर बड़े आतंकी हमले की फिराक में

जम्मू -कश्मीर में आतंकी गतिविधि कम होने का नाम नहीं ले रही। एक बार फिर आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद आतंकी हमले की साजिश रच रहा है। खुफिया एजेंसियों ने जम्मू-कश्मीर में अलर्ट जारी कर दिया है। बताया जा रहा है कि आतंकी 5 से 9 अप्रैल के बीच कोई आतंकी हमला हो सकता है। खुफिया एजेंसियों के मुताबिक पाकिस्तान और आतंकी संगठन जम्मू-कश्मीर में 5 से 9 अप्रैल के बीच किसी भी वक्त बड़ा आतंकी हमला कर सकते हैं। इसी के चलते सेना और सुरक्षाबलों को अलर्ट रहने को कहा गया हैं।

अमेरिका जैश-ए-मोहम्मद और आतंकी मसूद पर करेगा कार्रवाई

भारत-पाकिस्तान के बीच बढ़ते तनाव पर पूरी दुनिया की नजर टिकी हुई है। इसी अमेरिका ने बड़ा फैसला लेते हुए कहा कि पाकिस्तान में पल रहे आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के खिलाफ कार्रवाई करेगा। अमेरिकी अधिकारियों का कहना है कि पाकिस्तान से आतंकी गतिविधि चलाने वाले आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। साथ ही उनकोे मिलने वाले संसाधन और आर्थिक मदद पर भी शिकंजा कसा जाएगा।

अमेरिका के एक अधिकारी नाथन सेल्स ने आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद पर बड़ी कार्रवाई करने की बात कही है। इतना ही नहीं, उन्होंने कहा कि सभी देशों से अपील की है कि आतंकी संगठन को मिलने वाली आर्थिक मदद पर भी नजर बनाए रखें। अमेरिका ने आतंकी संगठन पर शिकंजा कसने के लिए सभी देशों से मदद भी मांगी है।

गौरतलब है कि इससे पहले अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भारत-पाकिस्तान की सीमा पर दोनों देशों से तनाव करने की अपील की थी। इसके बाद भारत की ताकत के आगे पाकिस्तान ने घुटने टेक दिए हैं।

अमेरिकी रक्षा सचिव पैट्रिक शनहान ने भी भारत और पाकिस्तान से शांति से काम लेने और सैन्य कार्रवाई से बचने की अपील की थी।

Read More : राहुल गांधी के बचाव में उतरे कैंब्रिज यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com