कारगिल युद्ध के इस सुरमा ने दुश्मन का सर काटकर फहराया था तिरंगा

0
146
mahaveer chakra

In the Kargil war, our army soldier had overthrew the Pakistani army.

कारगिल युद्ध के किस्से बेहद ही रोचक और चौकाने वाले हैं. इस युद्ध में हमारी सेना के जवानों ने पाकिस्तानी सेना को उखाड़ फेंका था. दुश्मन कारिगल की सबसे उंची चोटी पर होने के बाद भी भारतीय सेना के पैरों के नीचे गिरने को मजबूर हो गया था.

कारगिल युद्ध में शहीद दीप चंद राणा का परिवार आज भी इंसाफ के इंतजार में

कारगिल युद्ध में इंडियन आर्मी ने जो अदम साहस दिखाया था. वो पूरे विश्व में चर्चा में रहा था. हालांकि इस युद्ध में भारतीय सेना के 500 सैनिक शहीद हुए थे. इस युद्ध में शहीद हुए वीर सैनिकों की गाथा बहुत रोचक है. इस युद्ध में राजस्थान के सीकर में रहने वालें वीर सपूत दिगेंद्र सिंह ने भी हिस्सा लिया था.  best kamando digendra singh

दिगेंद्र को कारगिल युद्ध में पांच गोलियां लगी थी. उसके बावजूद उन्होंने पाकिस्तान सेना का डटकर सामना किया और दुश्मन देश के 48 सैनिकों को मार गिराया था.kargil war_digendra singh

कारगिल युद्ध के दौरान इस सुरमा ने पाकिस्तानी मेजर अनवर का चाकू से सर काटकर सिर में तिरंगा फहराया दिया था. दिगेंद्र सिंह को उनकी वीरता के लिए तत्कालीन राष्ट्रपति डॉक्टर के. आर. नारायण ने महावीर चक्र से प्रदान किया था.

जानिए क्यों मनाया जाता है कारगिल विजय दिवस

आपको बता दे 45 उम्र पार चुके दिगेंद्र सिंह 2005 में सेना से रिटायर हुए थे. उन्हें बेस्ट कमांडो कोबरा के नाम से जाना जाता है. दिगेंद्र बताते हैं कि वे आज भी सेना के लिए युद्ध लड़ने के लिए तैयार हैं. उनके पास युद्ध लड़ने का अनुभव है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here