यह खास उपाय दिलाता हैं पितरों का आशीर्वाद, इस बात का रखें ध्यान

0
74
shraaddh

पितृ पक्ष में वैसे तो पूरे 16 दिन ही खास होते है लेकिन शुक्रवार और शनिवार को ज्यादा खास माना जाता हैं। ज्योतिषों के अनुसार इन दिनों में यदि कुछ खास उपाय कर लिए जाए तो हमारे पितर हमसे प्रसन्न होकर परलोक जाते है और हमे अच्छे आशीर्वाद देते हैं। इस दिन सूर्यास्त के बाद अपने पितरों के निमित्त यह छोटा सा उपाय कर लें तो प्रसन्न होकर सारे पूर्वज पितृ मनचाही कामना पूरी करने और समस्त कष्टों से मुक्ति पाने में सुक्ष्म रूप से मदद करते हैं।

पितृ पक्ष में आने वाले शुक्रवार एवं शनिवार को सूर्यास्त के बाद किसी पीपल पेड़ के नीचे पितरों को याद करते हुए सफेद कपड़े का आसन लगाकर उसपर एक मिट्टी का छोटा कलश स्थापित करें। कलश के ऊपर सात बत्ती वाला दीपक जलाकर उसका सफेद चंदन और चावल से पूजन करें।

शास्त्रों के अनुसार पीपल के पेड़ में पितृगण निवास करते हैं और खास कर पितृ पक्ष में पितृ लोक से आकर सोलह दिन तक पीपल में भी निवास करते हैं। पूजन के बाद ।। ॐ पितृ दैवतायै नमः।। इस मंत्र का जप एक हजार बार करें।
यहां इस बात का खास ध्यान रखें कि जब तक जप चलता रहे दीपक की सातों बत्ती जलती ही रहना चाहिए। मंत्र का जाप पूरा होने के बात एक बार श्री पितृ चालीसा का पाठ भी करें और सात बार पीपल वृक्ष की परिक्रमा करें।

यह उपाय फलदायी तभी होता है जब आप इसे केवल पितरों के निमित्त शुक्रवार एवं शनिवार को सूर्यास्त के बाद ही करें। इसके अलावा अगर किसी जातक की कुंडली में चंद्र अशुभ हो या किसी दुष्ट ग्रह के प्रभाव से जीवन में बार-बार बाधाएं आ रही हो तो शुक्रवार एवं शनिवार दोनों ही दिन सूर्यास्त के बाद सात प्रकार की मिठाई 250 ग्राम बाजार से खरीद कर ले आएं

और एक पत्तल पर अपनी माता के हाथों से रखवां कर अपने हाथ में ले एवं रात में 9 बजे के बाद किसी चैराहे पर जाकर दक्षिण दिशा में रख दें। रखते वक्त पितरों से अपनी समस्या को दूर करने का निवेदन करें एवं बिना पीछे देखें घर वापस आ जाएं, कुछ ही दिनों सभी बाधाओं से मुक्ति मिलने लगेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here