कमलनाथ सरकार की यह योजना मध्य प्रदेश में स्वास्थ्य क्रांति कर देगी

0
42

अर्जुन राठौर
इंदौर। कमलनाथ सरकार द्वारा हाल ही में एक नई स्वास्थ्य योजना महा आयुष्मान को 15 अगस्त से लागू करने की घोषणा की गई है, अगर यह योजना ठीक तरीके से और समय पर लागू हो जाती है, तो मध्य प्रदेश में स्वास्थ्य क्रांति हो जाएगी। कमलनाथ सरकार ने इस योजना को राइट टू हेल्थ योजना कहा है यानी राइट टू हेल्थ लाने वाला देश का पहला राज्य बन जाएगा।

मध्य प्रदेश और इसके साथ ही समाज के हर तबके को चाहे वह गरीब हो या अमीर उसे 500000 से लेकर साढ़े सात लाख रुपए तक के निशुल्क इलाज की सुविधा मिल जाएगी, अभी तक मोदी सरकार द्वारा जो योजना लागू की गई थी, उसमें सिर्फ गरीबी की रेखा वाले लोग ही पांच लाख तक की स्वास्थ्य योजनाओं का लाभ उठा पाते थे, लेकिन अब कमलनाथ सरकार ने मोदी सरकार के नहले पर दहला मार दिया है।

इस योजना के लाने के साथ ही कमलनाथ सरकार अपने लिए एक बड़ा समर्थक वर्ग भी खड़ा कर लेगी, क्योंकि इन दिनों इलाज कराना सबसे अधिक महंगा है और निजी अस्पतालों में इलाज कराने में व्यक्ति के लाखों रुपए खर्च हो जाते हैं और वह बर्बाद भी हो जाता है, लेकिन कमलनाथ सरकार ने जो योजना लागू करने की घोषणा की है, उससे मध्य प्रदेश में स्वास्थ्य क्रांति भी होगी निजी अस्पतालों में सुविधाएं बढ़ेंगी और स्वास्थ्य सेवाओं का विस्तार भी होगा।

महा आयुष्मान योजना के तहत प्रदेश के एक करोड़ 88 लाख लोगों को इसका फायदा मिलेगा याने अमीर और मध्यम वर्ग के 48 लाख परिवार भी स्वास्थ्य बीमा के बाद सरकारी और निजी अस्पतालों में मुफ्त में अपना इलाज करा सकेंगे। इसके साथ ही प्रत्येक परिवार का ढाई लाख रुपए का व्यक्तिगत दुर्घटना बीमा भी कवर किया जा रहा है। कुल मिलाकर इस तरह की सुविधाएं विदेशों में उपलब्ध है जहां व्यक्ति के स्वास्थ्य और उसके इलाज की गारंटी सरकार के ऊपर रहती है। अब मध्य प्रदेश राइट टू हेल्थ याने स्वास्थ्य का अधिकार लागू करने वाला देश का पहला राज्य बन जाएगा इसके लिए कमलनाथ सरकार को निश्चित रूप से बधाई दी जानी चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here