Breaking News

यह है योगी के टोपी नहीं पहनने का असल कारण !

Posted on: 28 Jun 2018 08:53 by Lokandra sharma
यह है योगी के टोपी नहीं पहनने का असल कारण !

नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ बीजेपी का ख़ास चेहरा है और हमेशा से ही कट्टर हिंदू रहे है। लेकिन मुख्यमंत्री बनने के बाद उनके तेवर थोड़े नरम पड़े है। हाल ही में योगी आदित्यनाथ ने मगहर में गोल टोपी पहनने से इनकार कर दिया। हालांकि इससे पहले गुजरात के मुख्यमंत्री रहते हुए मोदी ने भी इस टोपी को पहनने से मना कर दिया था।

योगी ने किया इनकार-

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के दौरे से एक दिन पहले ही योगी आदित्यनाथ संत कबीर नगर के मगहर में कबीर की मज़ार पर पहुंचे थे इस दौरान मौलवी ने उन हे टोपी पहननी चाही लेकिन योगी ने टोपी पहनने से इनकार कर दिया। योगी केटोपी पहनने से इनका करने के बाद मामले को तुल पकड़ता देख मजार के संरक्षक खादिद अंसारी ने सफाई भी दी।

मोदी ने किया इनकार-

बता दे कि योगी प्रधनमंत्री नरेंद्र मोदी की राह पर चल रहे है। दरसल, साल 2011 में मोदी ने भी मुस्लिम टोपी पहनने से इनकार कर दिया था। दरअसल, उस समय मोदी के उपवास का दूसरा दिन था, इस दौरान सैयद इमामशाही सैय्यद उपवास मंच पर पहुंचे और उन्होंने मोदी को टोपी पहननी चाही। लेकिन मोदी ने टोपी पहनने से इनकार कर दिया और उसकी जगह शॉल स्वीकार किया।

मोदी के इस वर्ताव पर सैयद इमाम काफी आहत हैं और उन्होंने कहा कि उस वक्त मोदी से बहस करना बेकार था। इमाम साहब ने कहा कि मोदी ने हर समुदाय के प्रतिक चिन्ह स्वीकार किए हैं, साफा बांधा, पगड़ी भी बांधी लेकिन टोपी पहनने से इंकार कर दिया।

ये है टोपी नहीं पहनने का कारण-

प्रधानमंत्री मोदी ने टोपी नहीं पहनने का कारण टीवी प्रोग्राम ‘आप की अदालत’ के दौरान बताया गया था। दरअसल उमर अबदुल्ला ने मोदी पर आरोप लगाया था कि आप पंजाब जाते हैं तो पगड़ी पहन लेते हैं, असम जाते हैं तो वहां की वेशभूषा अपना लेते हैं लेकिन जब एक बार आपको इमाम ने मुसलमानों वाली टोपी पहनानी चाही तो आपने इनकार कर दिया क्यों?

इस सवाल के जवाब में वह कहते नजर आए कि आज कल भारत की राजनीति में एक नई तरह की विकृति आ चुकी है। आज की राजनीति में चलन बन गया है कि अपीज़मेंट के लिए कुछ भी करो। मेरा काम सभी संप्रदायों का सम्मान करना लेकिन मेरी जो परंपरा है उसे मुझे जीना है। इसीलिए मैं समझता हूं कि टोपी पहन कर फोटो निकालकर लोगों की आंखों में धूल झोंकने का पाप नहीं कर सकता। पीएम मोदी के इस वीडियो को मोदी फॉलोवर्स नाम के फेसबुक पेज से शेयर किया गया है। शेयर करने के 17 घंटों में ही इस वीडियो को लगभग 1 लाख लोग देख चुके हैं। वहीं लगभग 1000 लोगों ने इस वीडियो को शेयर भी किया है।

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com