इन नेताओं को मिल सकती मप्र कांग्रेस की कमान, पार्टी की पसंद ये लोग

0
78
kamalnath

भोपाल। लोकसभा चुनाव में मिली करारी हार की जिम्मेदारी कांग्रेस अध्यक्ष व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने ली और इस्तीफे की पेशकश की। इसके बाद यह सुगबुगाहट लगाई जाने लगी की अब नया कांग्रेस अध्यक्ष कौन होगा, क्योंकि पिछले दिनों छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कांग्रेस प्रदेश पद से इस्तीफा देते हुए मोहन सिंह मरकाम को कमान सौंपी है।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक पार्टी ऐसे नेता की तलाश में है, जो सभी गुटों और नेताओं को साध सके। पार्टी युवा वर्ग से जुड़े आदिवासी और पिछड़ा वर्ग के नेताओं में संभावनाएं तलाश रही है। दरअसल, राज्य के इन दो वर्गों ने विधानसभा चुनाव में कांग्रेस का साथ दिया था, किंतु लोकसभा चुनाव में जिन विधानसभा क्षेत्रों में कांग्रेस को बढ़त मिली, उनमें अधिकांश आदिवासी वर्ग के लिए आरक्षित विधानसभा सीटें हैं। बताया जा रहा है कि विधानसभा चुनाव में मिली सफलता के बाद प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने पद से इस्तीफा देने की पेशकश की थी, लेकिन राहुल गांधी ने लोकसभा चुनाव तक जिम्मेदारी संभाले की बात कही थी।

MP-congress

लोकसभा चुनाव में कांग्रेस को मध्य प्रदेश में 29 में से सिर्फ एक सीट मिली। इसी बीच राज्य सरकार में मंत्री कमलेश्वर पटेल कांग्रेस की हार के लिए सभी मंत्रियों और नेताओं को जिम्मेदार मान रहे हैं। वहीं वन मंत्री उमंग सिघार राज्य में ऐसा अध्यक्ष चाहते हैं, जो सभी को साथ लेकर चले। बताया जा रहा है कि प्रदेश कांग्रेस में नए अध्यक्ष के संभावित चेहरों में आदिवासी नेताओं में बाला बच्चन और उमंग सिघार के नाम की चर्चा है, तो दूसरी ओर पिछड़ा वर्ग से कमलेश्वर पटेल और पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अरुण यादव को दौड़ में माना जा रहा है।

ये चारों ऐसे नेता हैं, जिनका पार्टी के अन्य नेताओं से सीधे तौर पर कोई मतभेद नहीं है और दूसरी पंक्ति के नेता हैं। लिहाजा इन्हें पार्टी के दिग्गज नेताओं मुख्यमंत्री कमलनाथ, पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिह और पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिधिया से समन्वय बनाने में ज्यादा दिक्कत नहीं आएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here