Breaking News

इंदौर के पराक्रम से पूरा देश प्रेरणा ले रहा है- मोदी

Posted on: 23 Jun 2018 12:31 by Praveen Rathore
इंदौर के पराक्रम से पूरा देश प्रेरणा ले रहा है- मोदी

इंदौर। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इंदौर के विशाल जनसमूह को संबोधित करते हुए कहा कि स्वच्छता एक दिन में नहीं आती। मुझे गर्व है कि इंदौर ने लगातार दूसरे दिन सफाई में नंबर वन का ताज हासिल किया। मोदी ने कहा कि पहले में इंदौर आता था, लेकिन आज मुझे आना पड़ा। इंदौरवासियों के पराक्रम से इंदौर दूसरे साल भी सफाई में नंबर वन आया और दुनिया आज आपके पराक्रम से प्रेरणा ले रही है।

ये कहा मोदी ने इंदौर में
-मोदी ने कहा कि जो लोग स्वच्छ भारत का मजाक उड़ाते थे, उनको इंदौर की जनता ने बता दिया कि बदलना क्या होता है।
-मोदी ने इंदौर की जनता के साथ ही देवी अहिल्या को नमन भी किया।
-म.प्र. में 65 लाख से ज्यादा शौचालय बने। म.प्र. के कई शहर ओडीएफ घोषित हो चुके हैं।
-गांव अगर इस देश की आत्मा है तो शहर इसके ऊर्जा केंद्र हैं।
-आजादी के इतने वर्षों तक शहरों की तरफ ध्यान नहीं दिया गया। शहरों की आबादी तो बढ गई, लेकिन सुविधाएं नहीं बढ़ी। बिजली, पानी, सडक़, सफाई के क्षेत्र में इतने वर्षों के शासन में कांग्रेस ने कोई ध्यान नहीं दिया।
-चार साल में दो लाख तीस हजार करोड़ खर्च किए। कांग्रेस ने इतने सालों में कितना खर्च किया है, ये आपको पता है।
-हमारी सरकार की आवास योजना, अमृत योजना, दीनदयाल योजना सहित अन्य योजना न्यू इंडिया का हिस्सा है। स्मार्ट सिटी योजना के तहत पांच वर्ष में बीस हजार करोड़ रुपए का निवेश किया जाना है।
-शिवराज सरकार भी प्रयास कर रही है। अमृत योजना के तहत पेयजल से लेकर सीवरेज की सुविधा देने का काम चल रहा है। म.प्र. के 34 शहरों में डेढ़ हजार करोड़ की योजना म.प्र. में चल रही है।
-कूड़ा प्रबंधन से जुड़ी 800 करोड़ की योजना का लोकार्पण किया गया।
-लाखों टन कचरे से आज बिजली बनाई जा रही है।
-जिन योजना का लोकार्पण किया गया है, उनमें गरीब व निम्म वर्ग के लिए घर मिला है।
-एक लाख से ज्यादा लोगों को अपना घर मिला है, ये घटना छोटी नहीं है।
-2022 में किसान आजादी का पर्व मनायाएगा, तब तक ऐसा कोई व्यक्ति नहीं होगा, जिसका अपना घर नहीं होगा।
-एक करोड़ 15 लाख मकानों का निर्माण किया जा चुका है। पुरानी सरकार के प्रोजेक्ट के रुके काम भी भाजपा सरकार कर रही है।
-चार वर्ष में यूपीए के दस वर्ष के शासन के तीन गुना ज्यादा मकान बनाए गए।
-प्रधानमंत्री आवास योजना में बन रहे मकानों में गति आई है, पहले 18 महीने का समय तय था, अब एक वर्ष के भीतर यह काम पूरा किया जा रहा है।
-आवास योजना घर तक ही सीमित नहीं है, रोजगार और महिला सशक्तिकरण का भी माध्यम है।
-महिलाओं को घर बनाने के लिए कर्ज में ब्याज दरों में छूट दी जा रही है।
-घर के नाम पर धोखाधड़ी पर भी रोक लगाई गई है। रेरा कानून बनाकर बिल्डरों की मनमानी पर रोक लगाई है।
-सरकार ने गरीब व मध्यम वर्ग के लिए की योजनाएं बनाई हैं।
-ईएलडी योजना में चार सौ रुपए का बल्ब 65 रुपए में उपलब्ध कराए गए। इससे 16 हजार करोड़ रुपए की बचत हो रही है।
-32 लाख स्ट्रीट लाइट को एलईडी में बदला गया।
-नए आईआईटी, आईआईएम बनाए जा रहे हैं। छोटे शहरों में मेडिकल कॉलेज बनाए जा रहे हैं।
-सस्ती दवाओं के बिक्री, स्टेंट की कीमतों में कमी इस सरकार ने की है।
-आयुष्मान योजना में पांच लाख लोगों को बीमा देने से राहत मिलने वाली है।
-हवाई चप्पल पहनने वाले भी हवाई जहाज में सफर कर रहे हैं। जितने लोगों ने पिछले साल रेल के एसी कोच में सफर नहीं किया, उतने लोगों ने हवाई सफर किया है।

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com