पौधा चोर कह कर चिढ़ाते थे गांववाले, जिद ऐसी कि बन गया ट्री-मैन

0
72

जयपुर। राजस्थान के विष्णु लांबा ने अपनी जिंदगी एक ही मकसद के नाम कर दी है। पौधे लगाना, औरों से लगवाना… आबोहवा को दुरुस्त बनाने के लिए जो जरूरी हो, करते रहना। ट्रीमैन के नाम से मशहूर हो गए हैं। ढाई सौ से ज्यादा हस्तियों से पौधा लगवा चुके हैं। इनमें हीरो-हीरोइन, नेता-अफसर तो शामिल हैं ही, डाकुओं से भी भलाई का काम करवा चुके हैं।श्री कल्पतरू संस्थान के नाम से संस्था बना रखी है। 23 राज्यों में मुहिम चला रहे हैं। मध्यप्रदेश में चंबल जाकर बीहड़ को हरा-भरा बनाने की कोशिश भी जारी है।

18 साल से एक पौधा रोज लगा रहे


18 साल से रोज एक पौधा लगा रहे हैं। विष्णु ने बताया कि मुझे बचपन से ही पौधे पसंद हैं। मां के साथ पानी भरने जा रहा था, तब पड़ोसी के घर से पौधा उठा लिया। सालों तक गांव के ब”ो मुझे पौधा-चोर कह कर चिढ़ाते रहे। आज भी मेरा जुनून कम नहीं हुआ। मेहनत यहां तक पहुंच गई है कि ट्रीमैन के नाम से जाना जाता हूं।दो साल पहले बीमार होने की वजह से दस दिन तक पौधा नहीं लगा पाए थे। ग्यारहवें दिन ग्यारह पौधे लगाए। 2012 में किया गया कारनामा रिकॉर्ड बुक में भी दर्ज है। 11 हजार 11 सौ 11 पौधे एक साथ लगवाए थे।

नेता-अभिनेता से लगवाए पौधे
मुख्यमंत्री अशोक गेहलोत से लेकर कलेक्टर, कमिश्नर तक को अपने अभियान में शामिल किया है। काम भलाई का है, इसलिए कोई इंकार नहीं करता। दो सौ विधायकों से पौधा लगवा चुके हैं। शूटिंग के लिए जयपुर आईं अभिनेत्री नंदिता दास से भी पौधारोपण करवाया था। अभिषेक ब”ान से भी मिल चुके हैं। जिस हस्ती से पौधा लगवाते हैं, उसका नाम अपनी लिस्ट में डाल लेते हैं, ताकि औरों को जागरूक कर सकें। ब”ाों की खुशहाली के लिए भी काम करते हैं। पिछली संक्रांति पर चीनी मांझे के खिलाफ भी अभियान चलाया था। उनकी संस्था अब तक साढ़े पांच लाख से ज्यादा पौधे लगा चुकी है। छोटे भाई की शादी की खबर विदेशी अखबारों में छपी थी। वजह यह थी कि हमने दहेज लेने से इंकार कर दिया था। समधी ने दो ट्रैक्टर पौधे भिजवाए थे। रिश्तेदारों से कहा था कि गिफ्ट में पौधे लेकर आएं। पूरी शादी आबोहवा के नाम कर दी थी। न्यू यॉर्क टाइम्स ने खबर छापी थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here