Breaking News

इंदौर में बढ़ रहा है थीम बेस्ड केफे का प्रचलन : सौरभ श्रीवास्तव

Posted on: 16 Jun 2018 13:46 by Praveen Rathore
इंदौर में बढ़ रहा है थीम बेस्ड केफे का प्रचलन : सौरभ श्रीवास्तव

इंदौर। मध्यवर्गीय परिवार में जन्मे सौरभ श्रीवास्तव बताते हैं कि पिताजी शासकीय सेवा में है। परिवार की आर्थिक स्थिति भी इतनी ज्यादा स्ट्रांग नहीं थी कि कोई बड़ा बिजनेस शुरू कर सकें। फिर पढ़ाई के दौरान ही कुछ कमाई करने का विचार आया ताकि पढ़ाई के साथ-साथ कुछ इनकम भी हो जाए तो पिताजी पर ज्यादा बोझ नहीं आएगा। मेरा मानना है कि बिजनेस कोई भी छोटा या बड़ा नहीं होता है। यह भी तय निश्चित नहीं होता है कि जो काम आप कर रहे हैं, उसमें पहली बार में ही सफलता मिल जाए।

saurabh 1

इसके अलावा कई बार परिस्थितियां भी ऐसी बन जाती है कि आपको अपना बिजनेस या फील्ड बदलना पड़ जाती है। ऐसा ही कुछ सौरभ श्रीवास्तव के साथ भी हुआ। दरअसल इंदौर में पढ़ाई के दौरान दोस्तों के साथ अपना करियर उन्होंने एक सॉफ्टवेयर बनानी वाली कंपनी के रूप में किया। शुरुआत में 50-60 क्लाइंट को सॉफ्टवेयर बनाकर दिए और लगा कि स्टेबलिश हो जाएंगे, लेकिन साथ काम कर रहे दोस्तों के परिजनों ने उन्हें बिजनेस करने की इजाजत नहीं दी और उन्होंने विथड्रा कर लिया। श्रीवास्तव बताते हैं कि इस घटना के बाद मैंने सोचा कि अकेले ही बिजनेस करेंगे, लेकिन वह भी संभव नहीं हो पाया और फिर मैं मार्केटिंग की जॉब के लिए इंदौर से बाहर गया और एक दिन केफे में बैठकर कुछ काम कर रहा था, तभी मन में विचार आया कि थीम बेस्ड केफे खोलना चाहिए। इसके बाद मैंने थीम बेस्ड केफे मैंगोस्टिन इकोलाइफस्टाईल के नाम से शुरू किया। आज दो सौ से ज्यादा ग्राहक आधार बन चुका है और अब थीम बेस्ड केफे का विस्तार करने की योजना है। सौरभ बताते हैं कि बिजनेस कोई भी हो, मेहनत व लगन से काम करते रहे तो सफलता जरूर मिलती है।

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com