Breaking News

गूगल सुनता हैं आपके बेडरूम की पर्सनल बातें, रहे सावधान

Posted on: 14 Jul 2019 09:58 by Ayushi Jain
गूगल सुनता हैं आपके बेडरूम की पर्सनल बातें, रहे सावधान

गूगल के लिए काम करने वाले तीसरे पक्ष यानी कॉन्ट्रैक्टर्स स्मार्टफोन, होम स्पीकर और सुरक्षा कैमरों पर गूगल असिस्टेंट के माध्यम से आपके बेडरूम की बातचीत को गुप्त रूप से सुन रहे हैं। आप अपने बेडरूम में जो पर्सनल बातें करते हैं, वह भी गूगल के ‘कानों’ से बची नहीं है। भले ही स्मार्ट डिवाइसेज ने आपका काम आसान किया हो लेकिन इसके साथ ही इन्होंने आपकी प्राइवेसी पर भी हमला किया है।

अब तक सिर्फ दीवारों के कान होते थे लेकिन चार दीवारों के भीतर ही कान पहुंच गए हैं। रिपोर्ट में दावा किया गया है कि इस तरह की रिकॉर्डिंग से यूजर्स की गोपनीयता पर गंभीर सवाल उठते हैं। हालांकि गूगल ने अपनी गलती स्वीकार कर ली है। एक रिपोर्ट में दावा किया गया है कि इस तरह की रिकॉर्डिंग से यूजर्स की गोपनीयता पर गंभीर सवाल उठते हैं।

हालांकि गूगल ने अपनी गलती स्वीकार कर ली है। बता दे, गूगल होम स्पीकर के साथ यूजर्स की बातचीत रिकॉर्ड की जा रही है और ऑडियो क्लिप सब-कॉन्ट्रैक्टर्स को भेजे जा रहे हैं, जो गूगल की स्पीच रिकगनिशन में सुधार के लिए ऑडियो फाइलों को बाद में उपयोग करने के लिए ट्रांसक्रिप्ट कर रहे हैं।

इसका भी पता लगता हैं गूगल –
एक विसिल ब्लोअर की सहायता से वीआरटी एनडब्ल्यूएस गूगल असिस्टेंट के माध्यम से रिकॉर्ड किए गए एक हजार से अधिक अंश को सुन पाया। रिपोर्ट में कहा गया, “इन रिकॉर्डिग में हम पता और अन्य संवेदनशील जानकारी साफ सुन सकते हैं। इससे बातचीत में शामिल लोगों की पहचान करना और ऑडियो रिकॉर्डिग से उसका मैच करना आसान हो गया है”।

बता दे, इससे बातचीत में शामिल लोगों की पहचान करना और ऑडियो रिकॉर्डिग से उसका मैच करना आसान हो गया है।’ वीआरटी ने कहा, ‘बहुत से पुरुषों ने पॉर्न सर्च किया, पति-पत्नी के बीच बहस और यहां तक कि एक मामला जिसमें एक महिला आपातकालीन स्थिति में थी। इन सभी बातों का पता हमें रिकॉर्डिग से चला।’

गूगल के पास है साडी रिकॉर्डिंग –
चिंताजनक बात यह है कि विसिलब्लोअर ने वीआरटी को जिस प्लैटफॉर्म को दिखाया था, उसके पास पूरी दुनिया की रिकॉर्डिग मौजूद थी। इंटरनेशनल डेटा कॉरपोरेशन (आईडीसी) के अनुसार ऐमजॉन एको 2018 में 59 फीसदी हिस्सेदारी के साथ भारतीय स्मार्ट स्पीकर मार्केट में टॉप पर रहा, इसके बाद गूगल होम 39 फीसदी यूनिट शेयर के साथ मौजूद रहा। देश में 2018 में कुल 753 हजार इकाईयां भेजी गईं। गूगल होम के मिनी व अन्य सभी स्मार्ट स्पीकर मॉडल बिक गए और वह एक शीर्ष विक्रेता के रूप में उभरा।

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com