खासगी ट्रस्ट के पक्ष में सुप्रीम कोर्ट ने नहीं दिया कोई फैसला, फर्जी निकली सोशल मीडिया पर वायरल हुई खबर

बीते दिन सोशल मीडिया पर खासगी ट्रस्ट को लेकर सामने आई खबर पूरी तरीके से फर्जी निकली है. कुछ वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा इस बात की पुष्टि की गई है.

Indore: सोशल मीडिया पर आए दिन कोई ना कोई फर्जी खबर वायरल होती है. खबरें इस तरह से पेश की जाती है कि वह सच ही लगती हैं. ऐसे ही एक खबर पिछले दिन खासगी ट्रस्ट को लेकर चलाए गई. इस खबर में यह जानकारी सामने आई थी कि खासगी ट्रस्ट को हाईकोर्ट की ओर से जो आदेश दिया गया है, उस पर सुप्रीम कोर्ट ने स्थगन लगा दिया है यानी कि स्टे दे दिया है. लेकिन आपको बता दें कि यह खबर सही नहीं है. सोशल मीडिया पर इस बारे में अफवाह फैलाई गई है.

अक्टूबर 2020 में ही सुप्रीम कोर्ट इस मामले में स्टे दे चुका है. शासन प्रशासन और ट्रस्ट को लेकर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई पिछले दिनों ही पूरी कर ली गई है और फैसला सुरक्षित रखा गया है. छुट्टियां खत्म होने के बाद जुलाई या उसके बाद फैसला सुनाया जाएगा.

Must Read- Aashram 3: फिर छाया बाबा निराला का खुमार, इस बार आश्रम में होंगे ऐसे कां

जैसे ही यह खबर वायरल हुई इसके बाद शासन प्रशासन और अन्य सभी लोग हैरान हो गए. जब पता लगाया गया तो सुप्रीम कोर्ट की ऑफिशियल वेबसाइट पर इस तरह का कोई भी फैसला अपलोड नहीं किया गया था. संभागायुक्त कार्यालय में पदस्थ उपायुक्त सपना शिवानी सोलंकी ने यह जानकारी दी कि फिलहाल कोई भी फैसला सुप्रीम कोर्ट की ओर से नहीं दिया गया है. दिल्ली के अभिभाषक अभिनव मल्होत्रा ने भी इस खबर को फर्जी बताया है.