Breaking News

बहादुरी का दूसरा नाम है ‘संजुक्ता पाराशर’, उग्रवादियों के लिए बनीं काल

Posted on: 06 Feb 2019 11:13 by Surbhi Bhawsar
बहादुरी का दूसरा नाम है ‘संजुक्ता पाराशर’, उग्रवादियों के लिए बनीं काल

देश ही सुरक्षा का जिम्मा बहादुर जवानों के कंधो पर होता है। वही देश की बागडोर अफसरों के हाथ में होती है। कुछ अफसर पद और कुर्सी का दुरूपयोग करते है जिसके कारण लोगों का विश्वास उठता जा रहा है लेकिन कुछ अफसर ऐसे भी है जो अपनी साख बचाए हुए है और ईमानदार से मिसाल कायम कर रहे है। इसी कड़ी में आज हम आपको ऐसी ही महिला आईपीएस अफसर के बारे में बताने जा रहे है जिनके नाम से ही आतंकी कांपने लगते है। ये कहानी है आईपीएस अफसर संजुक्ता पाराशर की।

‘ब्यूटी विद ब्रेन’ का बेहतरीन उदाहरण है ये 10 महिला IAS-IPS ऑफिसर

दिल्ली से की पढ़ाई

संजुक्ता पराशर ने दिल्ली के इंद्रप्रस्थ कॉलेज से राजनीति विज्ञान से ग्रेजुएशन किया है। इसके बाद उन्होंने JNU से इंटरनेशनल रिलेशन में PG और US फॉरेन पॉलिसी में MPhil और Phd किया है।.2006 बैच की आईपीएस संजुक्ता ने सिविल सर्विसेज में 85वीं रैंक हासिल की थी। इसके बाद उन्होंने मेघालय-असम कॉडर को चुना।

भारत की सबसे सुंदर आईपीएस मेरिन जोसेफ | India’s most beautiful IPS Marine Joseph

उग्रवादियों के लिए बनीं काल

2006 बैच की संजुक्ता ने आईपीएस बनने के बाद मेघालय-असम कॉडर को चुना। 2008 में उनकी पहली पोस्टिंग माकुम में असिस्टेंट कमांडेंट के तौर पर हुई। इसके बाद उन्हें बोडो और बांग्लादेशियों के बीच हुई हिंसा को काबू करने के लिए उदालगिरी भेज दिया गया।

Women Athletes – जानिए कौन है दुनिया की सबसे फिट महिला खिलाड़ी – Wins Gold in World Championships

बोडो उग्रवादियों के खिलाफ चलाए जा रहे ऑपरेशन में संजुकता ने मुख्य भूमिका निभाते हुए उग्रवादियों के लिए काल बन गई। इस ऑपरेशन के चलते 2015 में करीब 16 आतंकियों को मार गिराया, जबकि 64 को गिरफ्तार किया। 2014 में 175 और 2013 में 172 आतंकियों को जेल पहुंचाया दिया।

IAS अफ्से से ही की शादी

संज्य्कता पाराशर ने आईएएस अफसर पुरु गुप्ता से शादी की है। दोनों का एक बीटा भी है।

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com