प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) आज 11 अक्टूबर 2022 को मध्य प्रदेश के उज्जैन में नवनिर्मित श्री महाकाल लोक कॉरिडोर   के पहले चरण का लोकार्पण अपने कर कमलों से करेंगे। महाकाल लोक कॉरिडोर 900 मीटर से ज्यादा लंबा है जोकि मंदिर के पुराने परिसर के साथ ही मंदिर के पीछे की ओर स्थित प्राचीन और पौराणिक रुद्र सागर झील के चारों ओर फैला हुआ है। महाकालेश्वर मंदिर पुनर्विकास योजना के अंतर्गत यह विकास कार्य किया जा रहा है। इस महाकाल लोक कॉरिडोर के पहले चरण की लागत 316 करोड़ से अधिक बताई जा रही है, वहीं इस पूरी प्रोजेक्ट की अनुमानित लागत 856 करोड़ के लगभग बताई गई है।

 

Also Read-MP Weather & IMD Update : प्रदेश में इतने संभागों में जारी है तेज बारिश का अलर्ट, मौसम विभाग की इन राज्यों को चेतावनी

नंदी और पिनाकी दो द्वारों से होकर जाएगा ‘महाकाल लोक’ का मार्ग

महाकाल लोक कॉरिडोर का निर्माण भगवान शिव से जुड़ी हुई कथाओं और मान्यताओं के आधार पर, सनातन धर्म के प्राचीन ग्रंथों और पुराणों को केंद्र में रखकर किया गया है। इस कॉरिडोर के गलिहारे में प्रवेश के लिए दो द्वार बनाए गए हैं जिसमें एक द्वार का नाम जहां नंदी द्वार है वहीं दूसरे द्वार का नाम पिनाकी द्वार है। उल्लेखनीय है कि नंदी जहां भगवान शिव के प्रमुख गण और उनके वाहन हैं, वहीं पिनाक भगवान शिव के धनुष का नाम है, जिसे धारण करने पर भगवान शिव को पिनाकी भी कहा जाता है।

Also Read-Live Darshan : कीजिए देशभर के प्रमुख मंदिरों के मंगला दर्शन

पीएम मोदी करेंगे लोकार्पण

ज्ञातव्य है की बहुप्रतीक्षित महाकाल कॉरिडोर का शुभारम्भ और लोकार्पण देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हाथों आज किया जाने वाला है। जानकारी के अनुसार प्रधानमंत्री मोदी दोपहर तीन बजकर 35 मिनट पर अहमदाबाद हवाई अड्डे से चलकर , शाम साढ़े चार बजे इंदौर हवाई अड्डे पर पहुंचेगे। जिसके बाद इंदौर से हेलीकॉप्टर से शाम पांच बजे उज्जैन के हेलीपैड पर पहुंचेगे। जिसके बाद पीएम मोदी शाम पांच बजकर 25 मिनट पर महाकालेश्वर मंदिर में अपनी उपस्थिति दर्ज कराएंगे । शाम 6.25 बजे से शाम 7.05 बजे के बीच महाकाल लोक का लोकार्पण पीएम मोदी अपने हाथों से करेंगे।

 

कार्तिक मेला मैदान में एक सार्वजनिक समारोह में हिस्सा लेंगे

बहुप्रतीक्षित महाकाल कॉरिडोर के लोकार्पण के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उज्जैन के क्षिप्रा नदी के रामघाट के उस पार लगने वाले प्राचीन कार्तिक मेला मैदान में एक सार्वजनिक समारोह में हिस्सा लेंगे। जिसके बाद पीएम मोदी मोदी उज्जैन से रात करीब आठ बजे इंदौर के लिए रवाना होंगे और वहां से रात करीब नौ बजे दिल्ली के लिए प्रस्थान करेंगे।