Breaking News

बिकाऊ और गुलाम मीडिया की खबरें कर रहे हैं अब पोस्ट… | News of the Sellable and Slave Media

Posted on: 10 May 2019 16:04 by Mohit Devkar
बिकाऊ और गुलाम मीडिया की खबरें कर रहे हैं अब पोस्ट… | News of the Sellable and Slave Media

पिछले तीन-चार दिनों से गजब हो रहा है… जो भक्त बिरादरी मीडिया को कांग्रेसी गुलाम और बिका हुआ बताती रही, वह बोफोर्स से लेकर राजीव गांधी के संबंध में प्रकाशित खबरों और कार्टूनों को बड़ी शान से पोस्ट कर रही है… अब भाजपा और उससे जुड़े भक्त ये बताएं कि कांग्रेस के राज में जिस मीडिया ने ये खुलासे किए थे आज वो बिकाऊ और देशद्रोही कैसे हो गई..? जिस अरुण शौरी ने बोफोर्स घोटाले को उजागर किया और पन्ने के पन्ने राजीव गांधी के खिलाफ रंग दिए… वे अरुण शौरी आज अगर राफेल घोटाले पर सवाल उठाते हुए सुप्रीम कोर्ट जाते हैं तो देशद्रोही कैसे हो जाते हैं..?

जिस हिन्दू के सम्पादक एन.राम ने बोफोर्स सहित कई कांग्रेसियों से जुड़े घोटालों को बेबाकी से उजागर किया आज वहीं एन. राम राफेल के दस्तावेजों को छापते वक्त बिकाऊ कांग्रेसी और देशद्रोही कैसे हो जाते हैं… जब से प्रधानमंत्री ने बोफोर्स से लेकर राजीव गांधी पर आईएनएस विराट पर किए सैर-सपाटे के आरोप लगाए उसके बाद से भाजपा और उससे जुड़े भक्त सोशल मीडिया पर इंडिया टुडे से लेकर अन्य समाचार-पत्रों, पत्रिकाओं में प्रकाशित खबरें और कार्टून पोस्ट कर रहे हैं… अरे मूर्खों… अब ये तो बताओ कि अगर मीडिया कांग्रेस का गुलाम और बिकाऊ था तो आज जो खबरें पोस्ट कर रहे हो वह कहां से आई..? इंडिया टुडे जैसे अन्य प्रकाशनों को हमेशा भक्त बिरादरी कांग्रेसी मानसिकता का बताती है और आज उसी की खबरें पोस्ट की जा रही है… क्या आपातकाल का समर्थन भारतीय मीडिया ने उस दौरान या उसके बाद आज तक कभी भी किया है..? जिस अन्ना हजारे के आंदोलन से भाजपा सत्ता में आई उसका भी अनवरत प्रसारण और प्रकाशन इसी मीडिया ने किया था…

हालांकि इसमें कोई दोमत नहीं कि बीते 5 सालों में मीडिया का और भी ज्यादा क्षरण हुआ और उसका एक बड़ा तबका गोदी मीडिया में तब्दील हो गया… मेरा तो भक्त बिरादरी को सुझाव है कि वह इस बात की अवश्य पड़ताल कर ले कि रजत शर्मा, सुधीर चौधरी और अर्णव गोस्वामी जैसे आज के तथाकथित राष्ट्रभक्त पत्रकारों ने आपातकाल से लेकर बोफोर्स और राजीव गांधी के विराट के सैर-सपाटे की खबरें छापी थी या उस वक्त भी ये बिकाऊ ही थे..? दिक्कत बस अब यह है कि मोदी जी से सवाल मत पूछो, क्योंकि उनके हजार गुनाह माफ हैं और 100 करोड़ की ब्लैकमेलिंग में तिहाड़ जेल जा चुका न्यूज एंकर आज ईमानदार, निष्पक्ष, जनता से जुड़ा और देशभक्त पत्रकार इसलिए है क्योंकि वह रात-दिन उनकी भटैती करता है…

वॉच डॉग को पेट डॉग बनाने वालों को यह समझना होगा कि अगर सच्चाई सामने नहीं आएगी तो भविष्य में वे किस आधार पर आरोप लगाते हुए चुनाव में वोट मांगेंगे..? अगर बोफोर्स से लेकर विराट और उसके बाद 2जी स्पैक्ट्रम, कोयला और राष्ट्रमंडल खेलों के तमाम कांग्रेसी घोटालों का खुलासा उस वक्त मीडिया ने नहीं किया होता तो आज मोदी जी से लेकर पूरी भाजपा कैसे कांग्रेस को कठघरे में खड़ा कर पाती..? इसलिए बिकाऊ से लेकर सच्चाई उजागर करने वाले मीडिया को अपनी अक्ल लगाकर पहचानो क्योंकि जिन रहनुमाओं पर आंख बंद कर भरोसा कर रहे हो उन्हें विपक्ष में रहने पर मीडिया निष्पक्ष और सत्ता में आने पर बिकाऊ लगता है… @ राजेश ज्वेल

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com