Rajasthan: राजस्थान के बूंदी शहर में मौलाना मुफ्ती नदीम और उसके सहयोगी की ओर से विवादित बयान दिया गया था. जिसके बाद पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया है. इस दौरान कोतवाली परिसर में भारी पुलिस बल तैनात रहा और मीडिया को भी अंदर नहीं जाने दिया गया. बता दें कि नूपुर शर्मा के बयान के विरोध में राजस्थान में बीते दिनों प्रदर्शन हुआ था. जहां पर बूंदी जिले में मुस्लिम समाज के लोग ज्ञापन देने कलेक्ट्रेट पहुंचे थे और मौलाना ने बयानबाजी की थी.

बूंदी में ज्ञापन देने के दौरान बयानबाजी करते हुए मौलाना मुफ्ती नदीम में विवादित बात कही थी. मौलाना मुफ्ती नदीम ने यह कहा था कि पैगंबर मोहम्मद साहब के खिलाफ बोलने वालों पर अगर कार्रवाई नहीं की तो मुस्लिम समाज खुद उनसे निपटेगा. शर्मा के बयान को लेकर मुस्लिम समाज कलेक्ट्रेट में ज्ञापन देने पहुंचा था उसी दौरान मौलाना ने बहुत सी बातें कही थी.

Must Read- Kkk12 ऑन एयर होने से पहले मेकर्स का तगड़ा झटका, बाहर हुए आठ खिलाड़ी! किसकी होगी ट्रॉफी?

वहां मौजूद लोगों को संबोधित करते हुए मौलाना ने कहा था कि जो पैगंबर साहब के खिलाफ बोलेगा उसकी आंख नोच लेंगे, हाथ उठाया तो हाथ तोड़ देंगे और उंगली उठाई तो उंगली भी तोड़ देंगे. इस बयान को मौलाना ने राजस्थान पुलिस के सामने दिया था. बूंदी में मौलाना ने यह कहा था कि अगर पैगंबर मोहम्मद के खिलाफ बयान काम भी तो अपन सही है तो हम ऐसे कानून के खिलाफ भी चले जाएंगे. उसने यह भी कहा था कि बूंदी प्रशासन और देश की हुकूमत यह बात अच्छी तरह से समझ ले कि आका की शान में गुस्ताखी करने वालों के खिलाफ अगर एक्शन नहीं लिया गया तो फिर मुसलमान रिएक्शन देगा.

इतना सब कुछ कहने के बाद भी मौलाना मुफ्ती यहां नहीं रुका उसने कहा कि मुसलमान जब रिएक्शन देखता है तो तारीख उठाकर देख लो. जब जब जिस भी कौम के खिलाफ मुसलमानों ने रिएक्शन दिया है उसे जमीन का टुकड़ा भी नसीब नहीं हुआ. यह कोई गुजारिश नहीं है बल्कि खुली चेतावनी है. हैरानी की बात तो यह है कि उस समय पुलिस प्रशासन के बड़े अधिकारी वहां मौजूद थे लेकिन यह सब बातें वह लोग सुनते रहे. हालांकि अब कार्रवाई करते हुए पुलिस ने मौलाना और उसके एक अन्य साथी को गिरफ्तार किया है.