प्लेन के नीच छिपकर यात्रा कर रहा था शख्स, 40 हजार फीट की ऊंचाई पर भी रहा जिंदा

0
69
aeroplane

नई दिल्ली: पिछले दिनों एक खबर खूब चर्चा में रही थी. एक घर के बगीचे अचानक एक शख्स का शव आसमान से गिरा. शव के ऊपर बर्फ जमी हुई नज़र आ रही थी. जिसके बाद पता चला था कि मृतक शख्स फ्लाइट की लैंडिंग डियर की जगह पर छिपकर सफ़र कर रहा था. जिस दौरान वह केन्या एयरलाइन की फ्लाइट से गिरा जो केन्या से लंदन आ रही थी. अब इसी खबर के बीच एक और ऐसी ही खबर सामने आ रही है. लेकिन इसमें वह शख्स यात्रा के बाद भी जिंदा बाख गया.

दुनियाभर में ऐसी कई घटनाएं सामने आती रहती हैं, जिसमे लोग फ्लाइट के निचले हिस्से में चोरी-छिपे यात्रा करते हैं और मौत का शिकार हो जाते हैं. बहुत कम ऐसा होता है कि कोई जिंदा बच जाता है. ख़बरों के मुताबिक, आज से करीब 23 साल पहले 1996 में प्रदीप सैनी नाम के शख्स ने दिल्ली से लंदन तक चोरीछिपे यात्रा की थी. सैनी आज लंदन में ड्राइवर के रूप में काम कर रहे हैं.

हैरानी की बात तो यह है कि 6500 किमी तक लैंडिंग गियर पर यात्रा करने के बाद भी प्रदीप जिंदा रहे. इस दौरान ब्रिटिश एयरवेज की फ्लाइट 40 हजार फीट तक की ऊंचाई पर पहुंची और उन्होंने न के बराबर ऑक्सीजन और माइनस 60 डिग्री तक के तापमान का सामना किया.

हालांकि, प्रदीप को उस यात्रा के बारे में अब कुछ भी याद नहीं है. लेकिन वे आज भी उसे मुश्किल भरा सफ़र बताते हैं. सफर में उनके साथ छोटे भाई विजय भी सफर कर रहे थे, लेकिन विमान से गिरकर उनकी मौत हो गई थी. 5 दिन बाद लंदन में ही उनका शव मिला था.

जब फ्लाइट लंदन पहुंची तब प्रदीप बेहोशी की हालत में थे. जिसके बाद उन्हें हॉस्पिटल में भारती कराया गया था. हॉस्पिटल में डॉक्टर भी उन्हें देखकर हैरान रह गए थे कि यह शख्स इतनी ऊंचाई पर भी जिंदा कैसे रह गया. लेकिन बाद में उनकी देखभाल के बाद उनकी जान बचा ली गई. बाद में उन्हें इंग्लैंड से निकाले जाने के खिलाफ लंबी कानूनी लड़ाई लड़नी पड़ी. आखिर में कोर्ट ने 2014 में उन्हें लंदन में रहने की इजाजत दे दी. इंग्लैंड जाने से पहले वे पंजाब में कार मेकैनिक का काम करते थे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here