हौसले को सलाम, जॉब के साथ यूं निभा रही 8 महीने की बेटी की जिम्मेदारी

0
21

इंदौर: नारी शक्ति को दुनिया यूं ही सलाम नहीं करती। आज हम आको शहर की एक ऐसी महिला के बारे में बताने जा रहे हैं, जिनके बारे में सुनकर आप भी उन्हें सलाम करेंगे। हम बात कर रहे हैं मीनाक्षी शर्मा की जो अपनी जॉब के साथ 6 महीने की बेटी की परवरिश भी अच्छी तरह से कर रही है। मदर्स डे के मौके पर Ghamasan.com ने मीनाक्षी शर्मा से ख़ास बातचीत की। उन्होंने बताया कि कैसे वह ये सब मैनेज करती हैं? बता दें कि मीनाक्षी जी  टाइम्स ऑफ़ इंडिया में असिस्टेंट एडिटर हैं। 100जरुरी है परिवार का सपोर्ट-
मीनाक्षी जी की 8 महीने की बेटी है. उन्होंने बताया कि जॉब और घर दोनों को मैनेज करने के लिए सबसे ज्यादा जरुरत होती है परिवार के सपोर्ट की। वह कहती हैं- मै खुशकिस्मत हूँ कि मुझे ऐसा परिवार मिला है, जो हर  कदम पर सपोर्ट करता है।

टाइम मैनेजमेंट का है ख़ास महत्त्व-
दरअसल, मीनाक्षीजी टाइम्स ऑफ़ इंडिया में जॉब करती हैं। उन्होंने बताया कि जॉब और परिवार को लेकर चलने के लिए टाइम मैनेजमेंट बहुर जरुरी होता है। उन्होंने बताया कि वह अपने अपॉइंटमेंट, सेमिनार और मीटिंग को इस तरह से अरेंज करती है कि हर दो-तीन घंटे में अपनी बेटी के पास जा सके।

उनका कहना है कि वह अपनी बेटी को दादा-दादी के पास छोड़कर जाती हैं, लेकिन बच्चों के  लिए मां का कोई विकल्प नहीं है। इसलिए वह हर दो-तीन घंटे में अपनी बच्ची के पास आती रहती है। 101वुमन को बताया मल्टीटास्कर-
मीनाक्षी जी ने वुमन को मल्टीटास्कर बताया है उन्होंने बताया कि एक महिला के लिए मां बनने के बाद ये फैसला लेना बहुत मुश्किल हो जाता है कि वह परिवार और करियर में से किसे चुने? लेकिन कुछ वुमन होती है जो दोनों को ही मैनेज कर लेती है।

उन्होंने कहा कि वुमन एक बहुत अच्छी मल्टीतस्कर होती है, साथ ही अच्छी मैनेजर भी। हलाकि मीनाक्षी जी के लिए भी ये सब मैनेज करना आसान नहीं है, लेकिन परिवार और ऑफिस के सपोर्ट से उन्होंने इसे आसान बना लिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here