धुन ‘ऑड टू जॉय’ सुनते हुए लगवाया मौत का इंजेक्शन

0
16

ऑस्‍ट्रेलिया के सबसे उम्रदराज साइंटिस्ट डेविड गुडाल ने 104 साल की उम्र में इच्छामृत्यु के जरिए अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली। डेविड अपनी मौत की तलाश में घर छोड़कर स्विट्जरलैंड जा पहुंचे थे। इसकी वजह भी बेहद अजीब थी। असल में वे जिंदगी से तंग आ चुके हैं। डॉक्टर डेविड गुडाल को इतने अधिक समय तक जीने पर बहुत अफसोस हो रहा था।

जिंदगी के आखिरी पलों में उन्होंने मशहूर संगीतकार बीथोवेन की एक धुन ‘ऑड टू जॉय’ सुनते हुए आंखें बंद की। मशहूर पर्यावरणविद् और वनस्पति विज्ञानी डेविड गुडॉल को उनके अपने देश में किसी गंभीर बीमारी के नहीं होने से इच्छा मृत्यु के लिए मदद लेने से रोक दिया गया था, लेकिन उनका मानना था कि वे अपनी जिंदगी का बेहतरीन हिस्सा जी चुके हैं और अब मरना चाहते हैं।

इसके लिए 12 पोतों के परिवार वाले गुडॉल को जनता से करीब 20 हजार डॉलर का चंदा जुटाकर पर्थ से स्विट्जरलैंड बिजनेसी क्ला की फ्लाइट से यात्रा की। यहां उन्हें कानूनी रूप से इच्छा मृत्यु की इजाजत मिल गई। ऑस्ट्रेलिया से स्विट्जरलैंड तक डेविड की यात्रा में मदद करने वाले संगठन एक्जिट इंटरनेशनल के संस्थापक फिलिप निशेक ने ट्वीट किया, बासेल में गुडॉल की ‘शांतिपूर्ण मौत’। उन्होंने आगे लिखा, यहां लाइफसाइकिल क्लीनिक में 10.30 बजे बॉर्बीट्युरेट स्तर के इंजेक्शन नेम्बुटाल से उनकी मौत हो गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here