मॉडल बनने का सपना लेकर मुम्बई जा रही नाबालिग थी, पुलिस ने रेलवे स्टेशन से किया दस्तयाब

0
39

इंदौर : वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक जिला इन्दौर शहर रूचि वर्धन मिश्र द्वारा शहर मे लगातार हो रहे महिलाओं, बालक- बालिकाओं पर घटित हो रहे गंभीर अपराधो की रोकथाम व अपराधियो की धरपकड व त्वरित कार्यवाही हेतु निर्देशित किया गया है। उक्त निर्दश के तारतम्य मे पुलिस अधीक्षक युसुफ कुरैशी जिला इन्दौर पूर्व व अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक प्रशांत चोबे तथा नगर पुलिस अधीक्षक विजय नगर क्षेत्र इंदौर पंकज दीक्षित के द्वारा अपने जोन के समस्त थाना प्रभारी को प्रभावी कार्यवाही हेतु समुचित निर्देश दिये गये थे। इसी तारतम्य मे थाना प्रभारी एमआईजी इन्द्रेश त्रिपाठी व उनकी टीम द्वारा लगातार कार्यवाही की जा रही है।

थाना एमआईजी पर आज दिनांक 16/06/19 के करीबन 02.00 बजे फरियादी ने थाने आकर बताया कि सुबह करीबन 09.30 बजे मेरी नाबालिक पुत्री को कोई अज्ञात बदमाश अपहरण कर ले गया है । फरियादी की रिपोर्ट पर से थाना हाजा पर अप.क्र 376ध्2019 धारा 363 भादवि का पंजीबध्द कर अनुसंधान मे लिया जाकर कंट्रोल रुम व वरिष्ठ अधिकारियों को घटना से अवगत कराया गया बाद थाना प्रभारी महोदय व्दारा अपराध को गंभीरता से लेते हुये तत्काल घटना स्थल के आसपास सी.सी. टी. वी. कैमरे तलाश किया लेकिन कोई मदद नही मिली। सोशल मीडिया, वाट्सअप ग्रुप पर लडकी की फोटो व जानकारी शेयर की गई। करीब 04.00 बजे रेलवे स्टेशन पर अपहृता लडकी का लोकेशन मिलने पर जीआरपी के सहयोग से एमआईजी पुलिस द्वारा लडकी के परिजन के साथ जाकर दस्तयाब किया गया।

लडकी ने पूछताछ पर बताया कि मै मुम्बई मॉडल बनने के लिये जा रही थी और अवंतिका एक्सप्रेस का इंतजार कर रहीं थी । नाबालिक लडकी को परिजनो के साथ थाने लेकर आये जिसने बताया कि मुझे मॉडल बनना है और मैने टी.बी सीरियल एंव मेरे मोबाइल मे देखा कि मॉडल मुम्बई मे बनते है, कुछ महीने पहले मैने मम्मी पापा से पूछा था कि मॉडल कहाँ बनते है तो उन्होने बताया था कि मॉडल मुम्बई मे बनते है। तभी से मैने प्लान कर लिया था कि मुझे मुम्बई जाना इसलिये आज मै बिना बताये घर से मेरा बैग पैक कर रेलवे स्टेशन के लिये निकल गयी थी मैने मोबाइल मे देख लिया था कि अवंतिका एक्सप्रेस ट्रैन मुम्बई जाती है ।

इस प्रकार एमआईजी पुलिस द्वारा सतकर्ता व तत्काल गंभीरता पूर्वक की गई कार्यवाही से गंभीर अपराध घटित होने से पहले ही रोका गया व अपहर्त बालिका को दस्तयाब कर माता पिता के सुपुर्द किया गया । यदि नाबालिक लडकी मुम्बई निकल जाती तो रास्ते मे या मुम्बई शहर मे किसी अनहोनी का शिकार निश्चित रूप से हो जाती।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here