केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण अगले महीने की एक तारीख को बजट पेश करने वाली है। देश की आम जनता से लेकर वित्तीय संस्थानों, कर्मचारियों और गृहणियों और छात्रों से लेकर सीनियर सिटीजन्स की उम्मीदों-आकांक्षाओं का भार होगा।

वित्त मंत्री टैक्स के मोर्च पर जनता को कितनी राहत दे पाती हैं, ये तो बजट के दिन ही पता चलेगा लेकिन सरकारी कर्मचारियों के लिए एक ऐसी खबर आई है जो अगर सच साबित होती है तो उनकी इस बार की होली बेहद खुशगवार हो जाएगी।

इसमें होने जा रहा बदलाव

सरकार इस बजट में केंद्रीय कर्मचारियों के फिटमेंट फैक्टर में बदलाव करके इसे बढ़ा सकती है। अगर ऐसा हो जाता है तो सरकारी कर्मचारियों की सैलरी में सीधा 8000 रुपये का इजाफा हो सकता है। फिटमेंट फैक्टर के बढ़ाने को लेकर लंबे समय से सरकारी कर्मचारी आस लगाए हुए हैं। अगर फिटमेंट फैक्टर में बढ़ोतरी की जाती है तो इसके आधार पर सरकारी कर्मचारियों की न्यूनतम सैलरी जो 18,000 रुपये से शुरू होती है वो बढ़कर 26,000 रुपये पर आ जाएगी। इसका साफ अर्थ है कि सैलरी में सीधा 8000 रुपये का इजाफा।

फिलहाल क्या है फिटमेंट फैक्टर की दर?

मौजूदा फिटमेंट फैक्टर की दर जो इस समय 2.57 फीसदी पर है वो बढ़कर 3.68 फीसदी पर आने से कर्मचारियों की बेसिक सैलरी में बढ़ोतरी होगी। मान लीजिए कि किसी कर्मचारी की बेसिक सैलरी 15,500 रुपये है तो 4200 ग्रेड पे के मुताबिक उसकी कुल सैलरी 15,500×2.57 या कुल 39,835 रुपये होती है पर ये ही फिटमेंट फैक्टर 3.68 फीसदी पर आ गया तो सैलरी में और अधिक बढ़त हो जाएगी।

हाल ही में बढ़ा है महंगाई भत्ता

हाल ही में केंद्रीय कर्मचारियों का महंगाई भत्ता बढ़ चुका है और इसके बाद देश के कई राज्यों में भी राज्य सरकार के कर्मचारियों के महंगाई भत्ते में बढ़ोतरी देखी जा चुकी है। हालांकि फिटमेंट फैक्टर की बढ़ोतरी की उम्मीद से कर्मियों को और फायदा मिलने की उम्मीद है।