कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद की पत्नी की जमानत याचिका खारिज, ये है मामला

0
59

लखनऊ। इलाहाबाद की एमपी-एमएलए स्पेशल कोर्ट ने दिव्यांग उपकरण घोटाले में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पूर्व विदेश मंत्री सलमान खुर्शीद की पत्नी लुईस खुर्शीद एवं अतहर फारुखी की अग्रिम जमानत अर्जी शुक्रवार को खारिज कर दी है।

दरअसल, भारत सरकार के सामजिक न्याय एवं आधिकारिता मंत्रालय द्वारा जाकिर हुसैन मेमोरियल ट्रस्ट फर्रुखाबाद को 3 मार्च 2010 को 71.50 लाख रुपये की अनुदान राशि दी गई थी। जिसमें से पांच लाख रुपये कासगंज जिले के लिए निर्धारित किए गए थे।

जिसके बाद इस रकम का उपयोग कर तीन महिने में उपभोग प्रमाणपत्र और वितरित दिव्यांग उपकरण का 10 प्रतिशत से सत्यापन कर उनके प्रति हस्ताक्षर सहित भारत सरकार को भेजे जाने थे। ऐसे में 3 जून 2010 को 25 लाभार्थियों की सूची भेज दी गई थी।?

बता दे कि इस सूची पर बीडीओ पटियाली के सत्यापनकर्ता के रूप में मुख्य चिकित्साधिकारी द्वारा प्रति हस्ताक्षर किए थे। वहीं उपकरण वितरण को लेकर 3 मई 2010 को पटियाली में कैंप किया जाना भी दर्शाया गया था। लेकिन जबमामले की जांच की गई तो हस्ताक्षर फर्जी पाए गए थे, साथ ही कैंप लगाए जाने के कोई सबूत भी प्रात्त नहीं हुए थे।

इस मामले में आर्थिक अपराध अनुसंधान संगठन की ने ट्रस्ट के प्रतिनिधि प्रत्यूश शुक्ल व एक अज्ञात के खिलाफ पटियाली कोतवाली में मामला दर्ज कराया गया। जिसमें लुईस खुर्शीद और अतहर फारुखी का नाम भी सामने आया था।

ऐसे में दोनों ने जिला एवं सत्र न्यायालय में अग्रिम जमानत के लिए याचिका दायर की थी जहां कोर्ट ने दोनों की अग्रिम जमानत याचिका खारिज कर दी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here