Breaking News

पुलवामा में आतंकियों ने फिर किया धमाका, एक घायल

Posted on: 02 Mar 2019 12:24 by Pawan Yadav
पुलवामा में आतंकियों ने फिर किया धमाका, एक घायल

14 फरवरी को पुलवामा में हुए आतंकी हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे। इसके बाद एक बार फिर आतंकियों ने शनिवार को आईईडी ब्लाॅस्ट कर सुरक्षाबलों को निशाना बनाने की कोशिश की। ब्लाॅस्ट में एक स्थानीय नागरिक घायल हो गया है। बताया जा रहा है कि आतंकियों ने सुबह 3 बजे पुलवामा के त्राल के अमलर क्षेत्र में धमाका कर वारदात को अंजाम दिया। अब जम्मू-कश्मीर पुलिस मामले की जांच में जुटी। इससे पहले कुपवाड़ा जिले में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच हुई मुठभेड़ में सीआरपीएफ के एक अधिकारी सहित पांच सुरक्षाकर्मी शहीद हो गए थे।

पुलवामा : NIA को कामयाबी, धमाके में इस्तेमाल कार मालिक के घर पहुंची

पुलवामा में हुए आतंकी हमले की जांच कर रही राष्ट्रीय जांच एजेंसी (​NIA) को बड़ा सुराग हाथ लगा है। ​NIA ने पुलवामा आत्मघाती हमले में आतंकियों द्वारा उपयोग की गई कार और उसके मालिक की पहचान कर ली है। उसकी पहचान दक्षिण कश्मीर के अनंतनाग जिले के बिजबेहरा इलाके में रहने वाले सज्जाद भट्ट बताया गया है। अब माना जा रहा है कि सज्जाद भी जैश-ए-मोहम्मद में शामिल हो गया है।

हमले की जांच कर रही NIA की टीम ने घटनास्थल से इस्तेमाल की गई कार के टुकड़े इकट्ठा किए तथा फॉरेंसिक और ऑटोमोबाइल एक्पर्ट्स की मदद से कार के मॉडल का पता लगाया। बताया जा रहा है  कि आत्मघाती हमले के लिए प्रयोग में लाई गई कार मारुति ईको है, जिसका चेसिस नंबर MA3ERLF1SOO183735 और इंजन नंबर G12BN164140 है । यह कार 2011 में अनंतनाग में मो. जलील अहमद हक्कानी को बेची गई थी।

दुनियाभर में चौतरफा घिरा पाकिस्तान

पुलवामा आतंकी हमले के बाद पाकिस्तान अब चौतरफा घिरता जा रहा है। अब संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (यूएनएससी) ने भी पुलवामा हमले पर नाराजगी जताते हुए निंदा की। संयुक्त राष्ट्र की 15 शक्तिशाली देशों की इस इकाई ने अपने बयान में पाकिस्तान के आतंकी समूह जैश-ए-मोहम्मद का नाम लेकर आतंकी गतिविधियों को रोकने की बात की। यूएनएससी की ओर से जारी एक प्रेस विज्ञप्ति में कहा गया है कि 14 फरवरी को पुलवामा में हुए जघन्य और कायरान तरीके से हुए आत्मघाती हमले की कड़ी निंदा करते हैं। यूएनएससी ने आतंकवाद को अंतरराष्ट्रीय शांति और सुरक्षा के लिए गंभीर खतरों में से एक बताया है।

दरअसल पुलवामा में सीआरपीएफ जवानों के काफिले पर हुए हमले में 40 जवान शहीद हो गए थे। इसके बाद भारत-पाकिस्तान के बीच तनाव बढ़ गया है। हमले के तुरंत बाद पाकिस्तान समर्थित आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने इस हमले की जिम्मेदारी ली। जैश-ए-मोहम्मद का सरगना कुख्यात आतंकी मौलाना मसूद अजहर है। सबसे बड़े हमले के बाद भारत ने पाकिस्तान को जिम्मेदार ठहराया है और तुरंत कार्रवाई करते हुए पाकिस्तान से मोस्ट फेवर्ड नेशन का दर्जा छीन लिया।

 

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com