Breaking News

प्रधान के बाबा अवतरण का मतलब तो बताओ मामा, सुरेंद्र बंसल की कलम से….

Posted on: 25 Jun 2018 11:34 by krishnpal rathore
प्रधान के बाबा अवतरण का मतलब तो बताओ मामा, सुरेंद्र बंसल की कलम से….

प्रधान सेवक (संभवतः अपना ही दिया हुआ शब्द ) को मप्र में शिवराज सिंह ने किस तरह प्रस्तुत किया उसके अनेक गूढ़ार्थ हैं इस पर आगे चर्चा करेंगे लेकिन मुझे यह एक सेवक के बाबा अवतरण की तरह लगा । ऐसा क्यों, आइये इसे जानते हैं।अपने रिकार्डेड स्मृति में से थोड़ा फ्लैश बैक में जाइये । देखिए रिमोट से बटन दबाते ही सेवक जिन योजनाओं का शुभारंभ कर रहे हैं उन योजनाओं के लाभार्थियों में से कुछ से सीधे बात करवाई जा रही है, प्रधान सेवक नरेंद्र मोदी धीमे से मुस्कुरा रहे है , ‘निर्मलता’ से किसी बाबा की तरह अभिवादन का  जवाब दे रहे हैं, सामने से आवाज़ आ रही है प्रधनमंत्री जी आपकी वजह से आज हमारा अपना घर हो गया , प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने हम पर बड़ी कृपा करी, उनकी वजह से हमें आज ढाई लाख मिले, हम आज अपने घर मे गृहप्रवेश कर रहे हैं , जहां हमें सभी सुविधा है ,ऐसा हम सोच भी नहीं सकते थे। ऐसा लगभग सभी 16 योजनाओं के शुभारम्भ पर नियोजित तरीके से किया गया। पता नहीं शिवराज मामा को यह सुझाव किसने दिया था लेकिन मुझे यह भी ,पता नहीं क्यों सब कुछ देखा देखा लग रहा था ।कुछ समय पूर्व टीवी पर एक विज्ञापित बाबा अवतरित हुए थे , उनका एक दरबार लगता था । बाबा एक विहंगम कुर्सी पर विराजमान होते थे , बीच दरबार में अपने अपने नम्बर से कुछ भक्त आते थे कहते थे बाबाजी मैं आपसे पहलीबार  जब मिला था तब आपने ऐसा ऐसा कहा था , बाबाजी आज आपकी कृपा से मेरे सब काम हो गए हैं, बाबा आपकी बड़ी कृपा है बाबा…. (भावुक)। बाबा ने हाथ हिलाया और     आशीर्वाद से कृपा चल दी। हालांकि ये बाबा नौटंकीबाज़ थे और समस्याओं से निजात की बात कुछ खाने पीने की रोचक सलाह से करते थे।

via

प्रधान सेवक का जो दरबार शिवराज सिंह मामा ने लगाया था उसमें ऐसा कुछ नहीं था। मोदी जी से कोई कुछ मांग नहीं रहा था,  बस उन्हें धन्यवाद दे रहा होता था । मोदी जी भी खुशो होकर मुस्कुरा भर देते थे। लेकिन मामा जी के लगाए दरबार से कोई न कोई लाभार्थी प्रधानमंत्री जी और मुख्यमंत्री जी का गुणगान करता था। अच्छा है, अच्छे काम बहुत अच्छे होते हैं और अच्छे काम के गुणगानों का भाव प्रकटीकरण एक ईमान से किया भी जाना चाहिए। फिर भी दृश्यात्मक रूप से यह मुझे एक प्रधान सेवक का बाबा अवतरण लगा। यूँ भी प्रधान सेवक जी मन की बात जब तब शहंशाह रूपी जनता से करते रहे हैं  लेकिन यह कुछ अलग , कुछ सरकारी आयोजनों से भिन्न और कुछ मिलता जुलता लगा किसी बाबा के दरबार से ।कल जब प्रधान सेवक जी का कारंवा रेडिसन चौक से गुजर रहा था । प्रधानमंत्री से तीसरी कार में जब शिवराजसिंह नज़र आ गए तो बहुत से लोग एकसाथ बोल पड़े मामाजी…और मामाजी ने भी पूरे होश में जोशखरोश से हाथ बाहर तानकर हिलाया। जाहिर है मामाजी रुतबे में नहीं थे लेकिन उन्होंने स्वच्छता के लिए आयोजित पुरस्कार समारोह में पूरे रुतबे से प्रधान सेवक को जताया कि मप्र में आपकी योजनाओं को पुरजोर तरीके से लागू किया गया है और इन योजना के लाभार्थी आपके गुणगान करते नहीं थक रहे हैं। प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत किस तरह सजाधजा कर मकान दिए जा रहे हैं और इतने ज्यादा उत्साह से विधिविधान पूर्वक ढोल धमाकों के साथ गृहप्रवेश हो रहा है। सब कुछ नियोजित भाव के साथ।

via

मामाजी ने इतना सब किया। क्यों,  याने प्रधान सेवक का बाबा अवतरण का मतलब क्या है मामाजी कुछ समझाओ जो आप प्रधान सेवक जी को समझा रहे थे अपने को कुछ समझ आ रहा है। हो सकता है अपनी समझ कमज़ोर हो क्योंकि उतनी ऊर्जा अपने में नहीं है जितनी ऊर्जा से भरपूर आप नज़र आ रहे थे। लोग गूढ़ार्थ निकालेंगे लेकिन अपने को मालव माटी गहन गंभीर के चरितार्थ दिखाते हुए  यह आपने मालवा के राजगढ़ से ही शुरू कर दिया था ,जब वहां मौजूद रंगबिरंगे सजित किसानों से मोदी जी की ही तरह पूरे जोश से पूछा था …आप लोग किसान है कि नही है…क्या मप्र में किसान दुःखी है . यह जवाब आप कांग्रेस को दे रहे थे लेकिन अपने पत्रकार जेहन में यह आ रहा था कि मोदीजी आप देख लो , मप्र में किसान बहुत सुखी हैं । इसी तरह जब दरबार लगा कर जब आवास , पेयजल आदि के लाभार्थी  प्रधानमंत्री के साथ आपके गुणगान रटेरटाये ,सीखे – सिखाये तरीके से कर रहे थे तब भी मामाजी अपने को अपने आप सुरक्षित करते नज़र आ रहे थे।महापौर मालिनी गौड़ मोदी के लिए इमेज परिणाम

via

प्रधान सेवक जी ने यह माजरा बहुत तल्लीनता से देखा और सराहा लेकिन इंदौर की महापौर मालिनी गौड़ के लिए  जितनी अच्छी बातें उन्होंने कही उतनी आपके लिए नहीं कही, क्यों?. हालांकि जो कसीदे आपने प्रधान जी की तारीफ में काढ़े उतने और वैसे किसी और ने नहीं।आप पूरे समय कुछ (स्वाभाविक) तेज़ में थे कुछ वीडियो देखिएगा ,अपनी शारीरिक भाषा के निहित भेष को समझियेगा और बताइएगा मामाजी प्रधान के बाबा अवतरण का मतलब क्या है ….।

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com