Breaking News

Teddy day special: जानें टेडी डे का इतिहास हमारे साथ

Posted on: 10 Feb 2019 20:26 by mangleshwar singh
Teddy day special: जानें टेडी डे का इतिहास हमारे साथ

ऐसा माना जाता है कि अमेरिका के 26वें राष्ट्रपति थेयोडोर रूज़वेल्ट के नाम पर टेडी बियर का नाम रखा गया था. बताया जाता है कि जब एक बार मि‍सीसि‍पी और लूसि‍याना के बीच सीमा वि‍वाद चल रहा था तब इस विवाद को सुलझाने के लि‍ए अमेरिकी राष्ट्रपति थेयोडोर रूजवेल्ट मिसीसिपी पहुंचे और विवाद सुलझाने के बाद खाली समय में शिकार करने के लिए निकल गए और वहां देखा कि किसी ने एक भालू को पेड़ से बांध कर रखा है जो कि बहुत ही घायल है और दर्द से कहेरा रहा है,उसे देख थेयोडोर ने उसका शिकार ना करने का फैसला लिया क्योंकि ये उसके उसूलों के खिलाफ था.

उसने अपने सिपाहियों से कहा कि भालू को खोंले और उसे दर्द से निजात दिलाने के लिए भालू को मार देने का आदेश दिया.ये घटना पूरे देश में हवा जैसे फ़ैल गई और एक बहुत ही विख्यात कार्टूनिस्ट क्लिआ‍फोर्ड बेरीमेन ने इस घटना पर एक कार्टून भी बना दिया और वाशिंगटन के न्यूज़पेपर पर पोस्ट भी कर दिया,न्यूज़ पेपर पर बने भालू का कार्टून लोगों को बहुत ही पसंद आया तभी से इसी भालू के रूप का खिलौना बनने लगे.

ऐसा कहा जाता है की भालू के खिलौना स्टोर चलने वाले मॉरि‍स मि‍चटॉम की पत्नी ने भालू के ही रंग रूप के खिलौने बनाये और राष्ट्रपति रूज़वेल्ट से उस खिलौने का नाम टेडी रखने की गुजारिश की. रूजवेल्ट का बचपन का भी नाम टेडी था इसलिए उन्होंने खिलौने का नाम टेडी रखने की इजाजत दे दी और तभी से टेडी बीअर डे मनाया जाने लगा. इस डे के उपलक्ष्य में 1984 में दुनिया का पहला टेडीबीयर म्यूाजि‍यम इंग्लैंटड के पीटरफील्ड ,हैम्पियर में स्थापित किया गया. इस दिन दुनिया के कई देशों में अलग –अलग कार्यक्रम आयोजित किये जाते है और टेडी डे मनाकर रूजवेल्ट को सम्मान दिया.

Read More:-

Teddy day Special : मिठास के बाद टेडी लायेगा प्यार में बहार

 

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com