Breaking News

तरूण सागर जी की प्रेरणाएं जीवंत रखने की योजना बनाएंगे: मुख्यमंत्री

Posted on: 02 Sep 2018 13:17 by Rakesh Saini
तरूण सागर जी की प्रेरणाएं जीवंत रखने की योजना बनाएंगे: मुख्यमंत्री

सिंगरौली: मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने आज की पत्रकार वार्ता की शुरुआत मुनिश्री तरुण सागर जी को श्रद्धांजलि के साथ की। उन्होंने कहा कि मुनिश्री हमारे गुरु थे हमने विधानसभा में अपने विधायकों के बीच उन्हें बुलाया था। उनकी स्मृतियां समाज के बीच सदैव प्रेरणा का काम करती रहें, इसके लिए हम आवश्यक रूप से कुछ योजना बनाकर उस काम करेंगे। मैं उनसे सदैव समय-समय पर मार्गदर्शन लेता रहता था। वह दमोह की माटी के पुत्र थें, इसलिए मध्यप्रदेश से उन्हें विशेष लगाव भी था।

Image result for jain muni tarun sagar

via

दिग्विजय सिंह ने युवाओं के साथ अन्याय किया, हमने शिक्षकों को पूरा सम्मान दिया
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज यहां आगे की जनआशीर्वाद यात्रा के पूर्व पत्रकारवार्ता में कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह के शासनकाल की असलियत बताते हुए कहा कि उन्होंने अपने कार्यकाल में युवाओं के साथ अन्याय किया, उन्हें धोखा दिया। उन्हें शिक्षाकर्मी बनाकर रखा गया। हमने शिक्षाकर्मियों को पहले अध्यापक बनाया, अब शिक्षक बनाकर उन्हें 40000 से 51000 तक का वेतन देने का निर्णय लिया है। वे आज रीवा संभाग के चितरंगी, सीधी, सिहांवल और चुरहट विधानसभाओं में जनआशीर्वाद लेने निकले।

via
मुख्यमंत्री ने कहा शिक्षकों को अच्छा वेतन मिलने से यह हमारे बच्चों का बेहतर भविष्य तय कर पाएंगे। उन्होंने कहा कि सिंगरौली में जो भी विकास योजनाएं हैं, उनमें स्थानीय लोगों को 50 फीसदी तक अवसर दिया जाएगा। मुख्यमंत्री ने सिंगरौली को स्मार्ट सिटी बनाने की भी घोषणा की है। उन्होंने बताया कि इसके लिए डीपीआर बन चुकी है।ललितपुर सिंगरौली रेलवे लाइन की सभी समस्याओं को दूर किया जाएगा ।

via
पत्रकार वार्ता में एक सवाल का जवाब देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा ललितपुर सिंगरौली रेलवे लाइन के लिए बहुत पहले काम हो जाना था लेकिन हमारे कांग्रेस के मित्रों ने ध्यान नहीं दिया, लेकिन हमने तेज गति से काम किया। रेलवे लाईन को लेकर जो अड़चने हैं तो उसका भी निपटारा किया जाएगा। जमीन संबंधी समस्याओं को लेकर अगर कोई विशेष बात नहीं है उसे निपटारा किया जाएगा अगर कोई अड़चन है तो कार्रवाई होगी ।

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com