ताई बोलीं, नए साल में पार्टी के लिए लिया नया निर्णय | Tai said, new decision taken for party in New Year:

0
85
sumitra mahajan

लोकसभा स्पीकर और इंदौर से सांसद सुमित्रा महाजन ने चुनाव नहीं लड़ने का ऐलान कर दिया है। इंदौर लोकसभा सीट से भाजपा ने अभी तक कोई उम्मीदवार का ऐलान नहीं किया है और इसे लेकर पार्टी असमंजस में है। इसी को लेकर ताई यानी सुमित्रा महाजन खासी नाराज नजर आ रही हैं। उन्होंने पत्र लिखकर अपनी नाराजगी जाहिर की लोकसभा चुनाव नहीं लड़ने का ऐलान कर दिया।

चुनाव नहीं लड़ने के फैसले के बाद ताई ने कहा कि -मैंने पार्टी को चिंता मुक्त किया है। पार्टी को निर्णय लेने में हो रही थी जिससे पार्टी का हो रहा था नुक़सान। कल नए साल से पहले कुछ नया निर्णय लेने की ज़रूरत महसूस हुई थी। पार्टी को कोई दिक्कत न हो इसलिए नए साल में पार्टी के लिए नया निर्णय लिया है। उन्होंने आगे कहा कि ताई को कैसा लगेगा ये मत सोचो। ताई पार्टी के लिए है, पार्टी ने मुझे बहुत कुछ दिया है। मैं आज भी पार्टी की कार्यकर्ता हूं और हम चुनाव में जी-जान से मेहनत करेंगे।

जब ताई से पूछा गया कि शहर की चाबी अब किसे सौंपेंगी तो उन्होंने कहा कि जो भी भाजपा का प्रत्याशी होगा उसे चाबी मिलेगी, अब प्रत्याशी कौन होगा इसका निर्णय चुनाव समिति को लेना है।

चुनाव लड़ने इंकार के कुछ ही मिनिट बाद सुमित्रा महाजन के घर नेताओं का जमावड़ा लग गया। उनके घर बैठकों का दौर जारी है। वहां पहुंचे ज्यादातर नेताओं का कहना है कि ताई को चुनाव लड़ने से ऐसे इंकार नहीं करना चाहिए। विधायक रमेश मेंदोला, महापौर मालिनी गौड़, शंकर लालवानी, गोपी नेमा, संभागीय संगठन भाजपा के मंत्री जयपाल सिंग चावड़ा, सुदर्शन गुप्ता, मधु वर्मा, चंदु माखिजा आदि नेता ताई के घर मौजूद थे।

तै के चुनाव लड़ने से इनकार के बाद महापौर मालिनी गौड़ ने पत्रकारों से कहा कि ये ताई का निर्णय है। संगठन जो तय करेगा वो सर्वमान्य होगा। जब उनसे पूछा गया कि ताईके विकल्प में आपको देखा जा रहा है। इसके जवाब में मालिनी गौड़ ने कहा कि संगठन जो फैसला करेगा वो मान्य होगा। जब उनसे कहा कि इंदौर में निर्णय लेने में देर संदेह को जन्म दे रहा था इस पर उन्होंने कहा कि एक सीट नही चार-पांच सीटों पर निर्णय बाकी है।

पत्र में महाजन ने सवाल उठाया कि उनकी पार्टी ने इंदौर लोकसभा सीट से अभी तक प्रत्याशी का ऐलान क्यों नहीं किया है, क्या पार्टी को किसी तरह का संकोच हो रहा है। उन्होंने पूछा कि अनिर्णय की स्थिति क्यों है? शायद पार्टी को निर्णय लेने में कोई संकोच हो रहा है, मैंने पहले ही ये फैसला उनपर छोड़ दिया था। इसलिए वह ऐलान कर रही हैं कि वह खुद चुनाव नहीं लड़ेंगी, ताकि पार्टी बिना किसी संकोच के साथ निर्णय ले सके।

sumitra mahajan letter

must read: तो क्या अब इंदौर में ताई युग की समाप्ति हो जाएगी? | So will the end of the Tai era in Indore now?

लगातार 8 बार से जीत है महाजन

सुमित्रा महाजन इंदौर लोकसभा सीट से लगातार 8 बार से चुनाव जीत रही हैं। फिलहाल उनकी उम्र 75 साल है और ऐसी बातें सामने आ रही थी कि उनकी उम्र को देखते हुए पार्टी उन्हें टिकट नहीं देना चाहती है। ख़ास बात तो ये है कि उनपर भ्रष्टाचार का एक भी आरोप नहीं लगा है।

कवि पं.सत्यनारायण सत्तन

भविष्य फल
ताई तीन मंजिल की सीढ़ी चढ़ गई है !
याने टिकिट प्राप्ति में आगेबढ़ गई है !
जवानों से ज्यादा ताई में जोश है,
जनता नादान कार्यकर्ता बेहोश है!

इतने दिन कूटनीति नाटक दिखाया था,
जनता कार्यकर्ता को भ्रंम में फँसाया था !
तीन मंजिले याने तीन उम्मीदवार,
निपटा दिये है अब करना है चोथावार !
नव सवत्सर पर पुरस्कृत हो जायेगी,
ठेकेदारों की फिर किस्मत खुल जायेगी,
भाजपा का नीति नियम धूल में मिलेगा,
कीचड़ होगा तभी तो कमल खिलेगा !

जोशी आडवाणी तक की ना परवाह की,
जय बोलो अमित बल शाली शहनशाह की !
राजनीति चालाक बारिक छानती है,
जनता मोन है,लेकिन सब कुछ जानती है !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here