Breaking News

जानिए अल्लाह और राम के बीच नफरत फैलाते पोस्टर का राज

Posted on: 02 Jun 2018 09:42 by krishna chandrawat
जानिए अल्लाह और राम के बीच नफरत फैलाते पोस्टर का राज

उत्तरप्रदेश : कैराना लोकसभा उपचुनाव में जीत हासिल करने वाली तबस्सुम बेगम का एक मैसेज इन दिनों बहुत वायरल हो रहा है। उस मैसेज के सोशल मीडिया में आते ही बवाल मच गया और तबस्सुम पर नफरत फ़ैलाने के आरोप लगने लगे।

आपको बता दे कि तबस्सुम हसन ने उत्तर प्रदेश के कैराना से सपा-बसपा समर्थित आरएलडी की तरफ से चुनाव लड़ा था और उन्होंने बीजेपी की मृगांका सिंह को हराकर जीत दर्ज की है।

क्या लिखा है मैसेज में
सोशल मीडिया पर वायरल हुए इस मैसेज में हिन्दुओं की भावना को आहात पहुचाने वाले शब्द लिखे हैं। उसमे तबस्सुम के फोटो के नीचे लिखा है कि “ये अल्लाह की जीत है और राम की हार” उनके इस मैसेज के सोशल मीडिया में आते ही उनपर तरह-तरह के आरोप लगने लगे।

मैसेज के पीछे का सच
इस मैसेज के पीछे का सच जानने के लिए जब तबस्सुम हसन से बात की तो उन्होंने कहा, ”क्या इस्लाम और राम की कोई लड़ाई चल रही है, जो जीत और हार होगी ? ये तो उन लोगों का प्रोपेगेंडा है जो ऐसी मानसिकता रखते हैं। हम कभी भी ऐसा नहीं कर सकते कि किसी भी धर्म को बुरा कहें। अल्लाह और राम के बीच नफरत की दीवार खींचता ये वायरल पोस्टर झूठा साबित हुआ है।

परिवार का कैराना में 1996 से दबदबा
तबस्सुम हसन, हसन खानदान की बहू हैं वही हसन खानदान जिनका बरसों से कैराना की राजनीति में दबदबा रहा है. तबस्सुम हसन के पति मुनव्वर हसन साल 1996 में इसी सीट से समाजवादी पार्टी के टिकट पर सांसद चुने गये थे। जबकि खुद तबस्सुम हसन साल 2009 में कैराना की सीट से संसद जा चुकी हैं।

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com