Breaking News

सुषमा स्वराज बोलीं, अब आतंकी हमला हुआ तो चुप नहीं बैठेंगे Sushma Swaraj said, now terrorists will not be silent if attacked

Posted on: 14 Mar 2019 08:51 by Pawan Yadav
सुषमा स्वराज बोलीं, अब आतंकी हमला हुआ तो चुप नहीं बैठेंगे Sushma Swaraj said, now terrorists will not be silent if attacked

पाकिस्तानी आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर को वैश्विक आतंकवादी घोषित करने में चीन द्वारा अड़ंगा डालने के बाद विदेश मंत्री सुषमा स्वराज बड़ा बयान सामने आया है। सुषमा स्वराज ने कहा कि पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इतने बड़े आदमी बनते हैं, तो आतंकी मसूद अजहर को भारत को सौंपे। आतंकवाद और बातचीत एक साथ नहीं हो सकती है।

उन्होंने कहा कि पुलवामा हमले से सभी मित्र देशों को अवगत करवा दिया है। ऐसे में अब भारत पर कोई आतंकी हमला होता है, तो वह चुप नहीं रहेगा। उन्होंने कहा कि भारत युद्ध करके माहौल खराब नहीं करना चाहता है। पाकिस्तान जब तक आतंकियों के खिलाफ कार्रवाई नहीं करता, तब तक बातचीत नहीं हो सकती है।

Read More : भारत से घबराया पाक, ओआईसी में सुषमा स्वराज का विरोध करने की दी धमकी

 ओआईसी में सुषमा स्वराज का विरोध करने की दी धमकी

वैश्विक स्तर पर भारत के बढ़ते दबदबे से घबराए पाकिस्तान ने अब नई चाल चली है। दरअसल, इस्लामिक सहयोग संगठन (ओआईसी) ने बैठक के लिए भारत की विदेश मंत्री को आमंत्रित किया तो पाकिस्तान बौखला गया है। भारत-पाकिस्तान में बढ़ते तनाव के बीच पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने ओआईसी को धमकी दी है कि यदि भारत को बैठक में शामिल किया तो वह कार्यक्रम का बहिष्कार करेगा। इसी धमकी के बीच भारत की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज बैठक के लिए गुरूवार को रवाना हो गई है। मीडिया के मुताबिक सुषमा स्वराज बैठक में पुलवामा हमला का मुद्दा उठाएगी, जिससे पाकिस्तान की मुश्किलें बढ़ सकती है। हालांकि आतंकी हमले के बाद पाकिस्तान पूरी दुनिया में अकेला पड़ गया है और अब उसे कुछ समझ नहीं आ रहा है।

Must Read: पुलवामा के बाद पाकिस्तान के विदेश मंत्री के ये बोल

इस मामले में पाक विदेश मंत्री कुरैशी ने तुर्की के विदेश मंत्री से चर्चा कर आपत्ति जताई है। कुरैशी ने तुर्की के विदेश मंत्री को फोन पर बताया कि भारत ने इस्लामिक देशों के संस्थापक सदस्य पर हमला किया है। ऐसे में उन्हें बैठक में शामिल करना अनुचित है। इस पर तुर्की के विदेश मंत्री ने कहा कि यदि ओआईसी की बैठक में भारत की विदेश मंत्री को बोलने के लिए आमंत्रित किया तो वह पाकिस्तान का साथ देते हुए विरोध करेगा।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक अबूधावी में 1 और 2 मार्च को इस्लामिक देशों के विदेश मंत्रियों का सम्मेलन होगा। इसमें भारत की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को भी बुलाया गया है। स्वराज कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि के रूप में शामिल होगी। गौरतलब है कि ओआईसी का वर्ष 1969 में गठन किया गया था। इसमें 57 सदस्य है, जिसमें से 40 मुस्लिम बाहुल्य देश शामिल हैं।

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com