आर्थिक मंदी का शिकार हुआ सूरत का व्यापारी, की ख़ुदकुशी

आर्थिक मंदी से तंग आकर जान देने का ये पहला मामला नहीं है। इससे पहले उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में वायुसेना के पूर्व कर्मचारी ने फांसी लगाकर अपनी जान दे दी थी।

0
342
suicide

सूरत: देश में चल रही आर्थिक मंदी का असर बाजार के बाद अब व्यापारियों पर भी देखने को मिल रहा है। आर्थिक तंगी की वजह से सूरत के बिल्डर हरेश भाई शामजी भाई रवाणी ने आत्महत्या कर ली है। बताया जा रहा है कि हरेश भाई मंदी के कारण आर्थिक तंगी का सामना कर रहे थे। ख़बरों के मुताबिक़ हरेश भाई ने अपने प्रोजेक्ट्स को पूरा करने के लिए प्राइवेट फाइनेंसरों से ब्याज पर करोड़ों रुपये लिए थे। मंदी के चलते वे यह पैसा नहीं चुका पा रहे थे और उन्होंने अपने फार्म हाउस में फांसी लगातार ख़ुदकुशी कर ली।

आर्थिक मंदी से तंग आकर जान देने का ये पहला मामला नहीं है। इससे पहले उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में वायुसेना के पूर्व कर्मचारी ने फांसी लगाकर अपनी जान दे दी थी। उनके आत्महत्या करने की वजह भी मंदी और भ्रष्टाचार ही बताई गई थी। मृतक के पास से चार पन्ने का सुसाइड नोट भी मिला है।

गौरतलब है कि मंदी का असर सबसे ज्यादा ऑटो सेक्टर में देखने को मिल रहा है। ऑटो सेक्टर की कंपनियां लगातार उत्पादन में कमी और कर्मचारियों की छटनी कर रही है। अब हिंदुजा समूह की ऑटो कंपनी अशोक लीलैंड ने सितंबर में अपने प्लांट्स में 5 से 18 दिन तक कामकाज बंद रखने का ऐलान किया है। कंपनी ने इसके लिए कमजोर मांग को वजह बताई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here