Breaking News

ताई बोलीं- मुझे जबरदस्ती राजनीती में लाया गया | Sumitra Mahajan: I was Forcefully brought to Politics

Posted on: 09 May 2019 14:08 by Parikshit Yadav
ताई बोलीं- मुझे जबरदस्ती राजनीती में लाया गया | Sumitra Mahajan: I was Forcefully brought to Politics

तीस साल इंदौर से सांसद रहीं सुमित्रा महाजन इस बार चुनाव में नहीं उतारी हैं| इंदौर से टिकट नहीं मिलने पर सुमित्रा महाजन पहली बार खुल कर बोली हैं| उन्होंने कहा कि मैंने हाईकमान से पूछा था कि मुझे बताएं कि टिकट मामले में क्या चल रहा है। कोई जवाब नहीं मिला, तो मैंने ही इंकार का फैसला कर लिया। अमित शाह से भी बात हुई, तो उन्होंने ये कह कर बात टाल दी कि कुछ समय और दीजिए।ताई 1989 से सांसद रही हैं और लोकसभा अध्यक्ष तक का सफर तय किया है। उनके कार्यकाल में सबसे ज्यादा काम भी हुआ और हंगामा भी। हाल के विधानसभा चुनावों में भाजपा की हार को वे गंभीरता से नहीं लेतीं। उन्हें विश्वास है कि लोकसभा सीट भाजपा ही जीतेगी। इस बार लापरवाही नहीं होगी। जनता, मोदी को फिर से पीएम के पद पर देखना चाहती है। उनकी राष्ट्रीय सुरक्षा मोर्चे पर सफलता और दूसरे कामों से वह खुश हैं। उसे विश्वास है कि मोदी कड़े फैसले ले सकते हैं।

मालवा भाजपा का गढ़, बाहरी लोगो को भी जिताया
इंटरव्यू में कहा कि मालवा हमेशा से भाजपा का गढ़ रहा है, यहां तक कि बाहरी लोग भी भाजपा के टिकट पर जीते हैं। शंकर लालवानी की तारीफ करते हुए ताई ने बताया कि वे पुराने कार्यकर्ता हैं। वे दो बार पार्षद रह चुके हैं। इंदौर विकास प्राधिकरण के सदस्य थे और उन्होंने कई संगठनात्मक काम किए हैं। जनता भी उन्हें जानती है। वे सही उम्मीदवार हैं। अपनी उम्मीदवारी पर ताई ने बताया कि वे जिस पद पर पहुंची थीं, उसे लेकर पार्टी के नेतृत्व को जरा हिचकिचाहट हो रही थी। वे नियमों से भी बंधे थे। ताई संगठन में भी गई थीं, लेकिन कुछ बोलीं नहीं। उन्हें लगा कि सभी उन्हीं के बारे में बात कर रहे थे। उन्होंने ये भी कहा की में राजनितिक व्यक्ति नहीं है| उन्हें जबरदस्ती राजनीती में लाया गया|

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com