ऐसी राखियां होती है अशुभ , कभी ना बांधे अपने भाई को नहीं तो हो सकती है अनहोनी

अपने भाई को गलती से भी ऐसी राखियां नहीं बांधनी चाहिए जिससे उसे हमेशा परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है।

0
214

रक्षाबंधन हिन्दू धर्म में बड़े त्योहारों में से एक माना जाता हैं जिसे देश भर में बड़ी धूम धाम से मनाया जाता हैं। यह त्योहार भाई बहनों के रिश्ते को और भी मजबूत करता हैं। इस त्यौहार में बहन अपने भाई की दीघार्यु के लिए हाथ में रेशम का धागा बांधती है। जिसके बदले में भाई उसकी रक्षा का वचन देता है। है। लेकिन अपने भाई को गलती से भी ऐसी राखियां नहीं बांधनी चाहिए जिससे उसे हमेशा परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। आज हम आपको ऐसी कुछ राखियों के बारे में बता रहे हैं जिन्हें कभी भी अपने भाई को नहीं बांधनी चाहिए।

1- खंडित राखी

शास्त्रों के अनुसार किसी भी बहन को किसी भी प्रकार से या कहीं से भी टुटी हुई राखी अपने भाई की कलाई पर नहीं बांधनी चाहिए। रक्षाबंधन के दिन रक्षासूत्र बहनें अपने भाई को उसकी रक्षा के लिए बांधती हैं और अगर यह रक्षासूत्र किसी भी प्रकार से खंडित होता है तो वह आपके भाई की पूर्ण तरह रक्षा नहीं कर पाएगा।

2- काले रंग की राखी

हिन्दू मान्यताओं में काले रंग को अशुभ माना गया है। काले रंग का प्रयोग किसी भी शुभ काम में नहीं किया जाता। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार काले रंग का संबंध शनि देव से माना गया है। शनि को मंद गति से चलने वाला ग्रह माना गया है। प्रत्येक रंग का प्रभाव उसी के ग्रह के अनुसार होता है। इसलिए काले रंग का प्रयोग किसी भी शुभ कार्य में नहीं किया जाता और इसी कारण से काले रंग की राखी बांधने को अशुभ माना गया है।

3- भगवान वाली राखी

कई बार लोग भगवान की तस्वीर वाली राखियां भी खरीदते हैं। शास्त्रों के अनुसार भगवान की तस्वीर वाली राखी भी बहनों को अपने भाई को नहीं बांधनी चाहिए। क्योंकि कई बार राखी कहीं पर खुलकर गिर जाती है। जिससे भगवान का अपमान होता है लेकिन आप शुभ चिन्हों वाली राखियां ले सकते हैं। जिस पर किसी भी भगवान की कोई तस्वीर न हो।

4- अशुभ चिन्ह वाली राखी

फैशन के चलते बाजारों में कई डिजाइन की राखियां आती हैं। लोग बिना सोचे समझे फैशन की वजह से उन राखियों को खरीद लेते हैं। त्योहार के समय में कई प्रकार की राखियां दुकानों में मिलती हैं। जिनमें कुछ अशुभ चिन्ह भी अंकित होते हैं लेकिन शास्त्रों के अनुसार इस प्रकार की राखियां संकट ही लेकर आती हैं। इसलिए आपको इस प्रकार की राखी बिल्कुल भी नहीं खरीदनी चाहिए। हमेशा शुभ चिन्ह वाली राखी ही खरीदें आप चाहें तो ॐ और स्वस्तिक के निशान वाली राखी खरीद सकती हैं। क्योंकि ये दोनों ही चिन्ह शुभता के प्रतीक हैं।

5- प्लास्टिक की राखी

आज कर बाजारों मे कई तरह की राखीयां आ रही हैं। इन्हीं में से एक है प्लास्टिक की राखी। प्लास्टिक की राखी को भी अशुभ माना गया है। क्योंकि प्लास्टिक कई अशुद्ध चीजों से मिलकर बनती हैं। प्लास्टिक में जानवरों की चर्बी और हड्डियों से मिलकर बनाई जाती है। जो कि पूरी तरह से अशुद्ध हैं। किसी भी शुभ काम में इस तरह की चीजों का प्रयोग नहीं किया जाता है। इस प्रकार की चीजें घर में नकारात्मकता फैलाती है। इसलिए आपको प्लास्टिक की राखी खरीदने से बचना चाहिए। अगर आप अपने भाई को प्लास्टिक की राखी बांधती हैं। तो आपके भाई को अनिष्टों का सामना करना पड़ सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here