सुब्रह्मण्यम स्वामी बोेले, देश में भाजपा का वर्चस्व रहा, तो कमजोर हो जाएगा लोकतंत्र

0
39

नई दिल्ली। भाजपा नेता और राज्यसभा सांसद सुब्रह्मण्यम स्वामी ने अपनी ही पार्टी के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। सांसद स्वामी का कहना है कि देश में भाजपा अकेली पार्टी बन जाएगी तो लोकतंत्र कमजोर हो जाएगा। इतना ही नहीं, उन्होंने तृणमूल कांग्रेस और राष्ट्रवादी कांग्रेस को कांग्रेस में विलय करने की सलाह दे डाली।

उन्होंने का कहना है कि ममता बनर्जी को कांग्रेस का अध्यक्ष बना देना चाहिए। दरअसल, सुब्रह्मण्यम स्वामी ने एक ट्वीट में कहा कि अगर देश में भाजपा अकेली पार्टी रह गई तो लोकतंत्र कमजोर हो जाएगा। साथ ही स्वामी ने ट्वीट में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को एक एकीकृत कांग्रेस के अध्यक्ष के रूप में कार्यभार संभालने का सुझाव दिया।

mamta banerjee

इतना ही नहीं, सुब्रह्मण्यम स्वामी ने शरद पवार की राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी को कांग्रेस के साथ विलय करने का सुझाव दिया। स्वामी का कहना है कि गोवा, कश्मीर सहित अन्य राज्यों के घटनाक्रम को देखते हुए मुझे लगता है कि यदि भाजपा अकेली पार्टी के रूप में रह गई तो लोकतंत्र कमजोर हो जाएगा। स्वामी ने कहा कि पिछले दिनों गोवा में कांग्रेस के अपने ही सदस्यों ने पार्टी का साथ छोड़कर भाजपा का दामन थाम लिया।

गोवा में 10 जून को कांग्रेस के 15 में से 10 विधायकों ने इस्तीफा दे दिया और वे भाजपा में शामिल हो गए। 2017 में गोवा विधानसभा चुनाव में कांग्रेस सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी थी। इधर, कर्नाटक में भी कांग्रेस-जेडीएस की गठबंधन सरकार के 16 विधायकों ने इस्तीफा दे दिया है। राज्य में कांग्रेस के लिए संकट की स्थिति बनी हुई है. क्योंकि इस्तीफा देने वाले 16 में से 13 विधायक अकेले कांग्रेस के हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here