कृषि कॉलेज के छात्र राहुल तोमर ने अपनी आपबीती राज्य सरकार के सामने सुनाई

0
51

आदरणीय कृषि मंत्री महोदय जी में राहुल सिंह तोमर कृषि महाविद्यालय ग्वालियर का छात्र हूं..वर्तमान में जो निजी कृषि महाविद्यालय के छात्रों को शासकीय महाविद्यालय में प्रवेश दिए जाने का जो फैसला है उससे कृषि क्षेत्र की शिक्षा का स्तर गिरेगा ओर ये उन छात्रो के साथ अन्याय होगा जो PAT करके शासकीय महाविद्यालय में प्रवेश लेते है.

वर्तमान में सभी शासकीय महाविद्यालय के छात्र इसके विरोध में हड़ताल पर है, जो पूरे मध्यप्रदेश में चल रही है इससे आपकी ओर आपकी सरकार की छवि धूमिल हो रही है जबकि यहाँ कृषि महाविद्यालय में लघु मध्यप्रदेश निवास करता है.

यहां 51 जिलों में के लड़के पड़ते है ये है हमे भलीभांति ज्ञात है कि निजीकरण तो सन 2012 से शुरू है लेकिन अबकी बार निजी महाविद्यालय के छात्रो के फॉर्म नही डल रहे थे क्योंकि उसमें दो option आ रहे थे कि आपका महाविद्यालय NARS सिस्टम में आता है और क्या icar से accridation है.

जो ये निजी महाविद्यालय इनका अनुसरण नही कर रहे थे तब सुनने में आया आपकी सरकार के दवाब के कारण फॉर्म भरने की दिनांक बड़ाई गई और तरीख बड़ाई भी गई सभी छात्रो को ये भरोसा था कि कांग्रेस की सरकार बनेगी तो कुछ अच्छा होगा ओर जब आप कृषि मंत्री बने तो पूरे मध्यप्रदेश की जनता को भरोसा हो गया कि, आपके आदरणीय पिता जी की तरह आप भी उन्ही की तरह काम करेंगे और आपको को आपके पिता जी की तरह इस प्रदेश नही बल्कि पूरे देश याद करेगा मेरा ओर अभी कर्नाटक , राजस्थान में निजी महाविद्यालय पर पूर्णतः प्रतिबन्ध लगा दिया गया है.

आपसे भी मेरा विनम्र निबेदन है कि आप इस विषय पर गंभीरता से विचार करेंगे और निजी महाविधालय पर प्रतिबंद लगाने के लिए उचित कदम उठाये जिससे कृषि शिक्षा का स्तर बना रहेगा और आपके सभी किसानों का भला हो सकेगा और आपका ओर आपकी सरकार की सराहना होगी बस सर यही निवेदन है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here