नई दिल्ली: फेसबुक डेटा लीक मामले के बाद पूरी दुनिया में इस मामले को लेकर बहस जारी है। गौरतलब है कि डेटा लीक को लेकर फेसबुक के सीईओ मार्क जुकरबर्ग ने अमेरिकी सांसद के सामने अपनी गलती मानते हुए माफ़ी भी मांगी थी।

इसी बीच खबर आ रही है कि फ्रांसीसी सरकार डेटा लीक से बचने के लिए खुदका मैसेंजर सर्विस तैयार कर रही है। फ्रांसीसी सरकार की डिजिटल मिनिस्ट्री ने कहा कि यह सर्विस पूरी तरह से एन्क्रिप्टेड होगा। ताकी उच्च अधिकारियों के संवाद को जासूसी से बचाया जा सके।

मिनिस्ट्री ने कहा कि व्हाट्सऐप और टेलीग्राम फ्रांस बेस्ड नहीं है ऐसे में सर्वर देश के बाहर होने से डेटा लीक होने का खतरा बढ़ जाता है। मिनिस्ट्री के एक प्रवक्ता ने बताया कि, इस नए ऐप की टेस्टिंग लगभग 20 अधिकारी और वरिष्ठ सिविल कर्मचारी कर रहे हैं।

प्रवक्ता ने आगे कहा कि हम एक ऐसा एनक्रिप्टेड मैसेजिंग सर्विस तैयार करना चाहते हैं जो अमेरिका या रूस के द्वारा एन्क्रिप्ट ना किया गया हो। हमनें फेसबुक का मामला देखा है इसलिए हम आगे की योजना बना रहे हैं।

LEAVE A REPLY